August 17, 2022

स्ट्रगल बाय से पोस्टर बाय बनने तक का सफर- बाटला हाउस के अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा का एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

फ़ातिमा अन्सारी

सोमवार को दोपहर १बजे विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से The Times of Hind के साथ जुड़ कर बालिवुड कि विख्यात फिल्म बाटला हाउस के अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा अपनी ज़िंदगी के रोचक सफर के अनोखे अनुभवों को The Times of Hind के संजीव कुमार सिंह के साथ इंटरव्यू में साझा किया। अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा बिहार के एक छोटे से गांव से निकलकर बॉलीवुड के सिल्वरस्क्रीन तक पहुंचे, यह सफर ज़रा भी आसान न रहा।

अभिनेता ने बताया कि उनके सपनों और उनके नाच, गाने में रुचि ने उन्हें बिहार के बेतिया जिले से निकाल कर सभी सिनेमा घरों की दीवारों पर सजा दिया। उनके पिता उन्हें इंजीनियर के रूप देखना चाहते थें। मोतिहारी से उन्होंने अपनी तैयारी शुरू की मनोज वाजपेई से प्रेरित होकर दिल्ली के National School Of Drama में दाखिला लेना चाहते थे लेकिन नही हुआ. उन्होंने प्रयास नही छोड़ा निरंतर ड्रामा करते रहें, अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा ने अपने पिता जी के पूरे सहयोग को सराहा। National School Of Drama के एम.के. शर्मा से बहुमूल्य नसीहत मिली और अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा ने पटना के कालिदास रंगालय में दाखिला लिया। पंकज त्रिपाठी उनके आदर्श हैं और उन्होंने उनका ऑफर कुबूल किया और पहला कामेडी प्ले ‘जात है पूछो साधू की’ किया और अभिनेताओं का स्ट्रगल महसूस कर कुछ कर दिखाने मायानगरी मुंबई पहुंचे।

मनोज वाजपेई जी के साथ 1971 में छोटा सा एक्ट कर के आवाम का दिल जीत लिया ,बटोही,भोर, अपना आसमान, रावण आदि में काम कर के सुर्खियां बटोरी. रामायण महाभारत,अजय देवगन से अत्यधिक प्रेरित हुए। २रुपये टिकट का हाउसफुल प्ले कर लोगों का प्यार बटोरा। फिल्मी करियर के बात-चीत में बताया कि इरफान खान के फिल्म अपना आसमान में भी काम किया। मनिरत्नम सर और अभिषेक बच्चन के साथ रावण किया। टीवी सीरियल्स में भी हाथ जमऐं जैसे क्राईम पेट्रोल, सावधान इंडिया आदि में मेन लीड बनें।

जान अब्राहम से आकर्षित होकर उनके ज़िंदादिली की तारीफ की, बाटला हाउस से सबसे अनोखी यादों में से अपने टफ आडिशन की यादों को साझा किया। अभिनेता अमरेन्द्र शर्मा ने बताया कि वह ऐसे भवर में भी फंसे हैं कि उन्हें आगे का रास्ता समझ नहीं आ रहा था और उन्होंने विवेकपूर्ण तरीके से फैसला लिया। अभिनेता ने भोजपुरी सिनेमा की अश्लीलता और बॉलीवुड की रियलिस्टिक सिनेमा पर रौशनी डाली। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत जो कि बिहार से थे और नेपोटिज्म के मामले को अभिनेता अमरेंद्र शर्मा ने राजनीतिक मुद्दा बताया। पॉकेट एंटरटेनमेंट वेब सीरीज़ की बहू मत्ता की भी तारीफ करते हुए बॉलीवुड सिनेमा कभी नहीं मर सकता इस बात की पुष्टि की। अपनी आने वाली फिल्म मछली के बारे में बताते हुए आने वाले प्रोजेक्ट की झलक बताई।

अंत में अभिनेता अमरेंद्र शर्मा ने द टाइम्स ऑफ हिंदी की तारीफ करते हुए जन से पढ़ने और निरंतर सपने देखने की और कभी ना पढ़ाई छोड़ने की अपील की।

Leave a Reply