October 5, 2022

सावन स्पेशल शिव का एक ऐसा स्थान जहां विज्ञान भी हो जाता है हैरान

A place of Sawan Special Shiva where even science gets surprised

पंडित सुधांशु तिवारी की रिपोर्ट

सीतापुर के नैमिषरण्य के समीप गोमती नदी के तट पर अरवापुर गांव में स्थित रुद्रेश्वर महादेव जहां एक कुंड में आज भी स्थित है एक जीवित शिवलिंग,
पौराणिक परंपराओं के अनुसार गोमती नदी के किनारे बने एक कुंड के अंदर स्थित शिवलिंग को बाबा रुद्रेश्वर महादेव के नाम से जाना जाता है. वही कुंड के बाहर कुछ ही दूर पर एक शिवलिंग भी स्थापित है मान्यता इस वजह से और बढ़ जाती है एक कि यहां पर एक निश्चित स्थान पर रही बेलपत्र जल के अंदर जाती है और इसके लिए भक्तों को ओम नमः शिवाय जप करना होता है.

केवल बेलपत्र ही नहीं गाय के दूध भी कुंड के जल में अंदर तक एक ही धार के साथ जाते हुए देखा जाता है हैरान कर देने वाली तस्वीर तब दिखाई देती है जब भगवान शिव को अर्पित किए गए फलों को जल में डालने के पर चंद क्षणों में प्रसाद के रूप में उसमें से एक या दो फल वापस जल के ऊपर आकर तैरने लगते हैं जिसको श्रद्धालु बाबा के प्रसाद के रूप में ग्रहण करते हैं बाबा रूद्रवतृ तीर्थ कुण्ड भी गंगा की संगिनी नदी गोमती किनारे स्थित है.

सामान्यतः अगर किसी जगह बहते हुए पानी मैं बेलपत्र या कोई भी पत्ती डालें तो वह पानी धारा के साथ बह जाती है यही अगर दूध चढ़ाया जाए तो वह भी धारा के साथ बह जाता है किंतु यहां ऐसा नहीं है बेलपत्र और दूध की धारा सीधे पानी के अंदर तक तो जाती है जो अपने आप में एक आश्चर्यचकित करता है .ठीक इसके विपरीत अगर नदी के दूसरे छोर पर यही क्रिया की जाए तो बेलपत्र पानी की धारा में बह जाती है और दूध भी धारा के साथ ही बजाता है किंतु विशेष स्थान पर रूद्र कुंड में प्रकृति के विपरीत लीला को देखकर साइंस भी नतमस्तक होता है इस अद्भुत चमत्कार को देखने के लिए यहां लोगों का तांता लगा रहता है.

Leave a Reply