October 5, 2022

अफगानी छात्रा का दर्द, तालिबान को अगर पता चला की मैं पढ़ाई कर रही तो परिवार वालों को मार डालेंगे

Afghan girl's pain, if Taliban comes to know that I am studying, they will kill family members

सृष्टि भट्टाचार्य की रिपोर्ट

दिल्ली: अफगानिस्तान संकट के बीच उप्र के विभिन्न विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे करीब 500 छात्र-छात्राओं को अपने परिवार की चिंता सता रही है। अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को देखते हुए वे अभी अपने देश नहीं लौटना चाहते। अधिकतर छात्रों ने भारत सरकार से अपनी वीजा अवधि को बढ़ाने की मांग की है।

कुछ छात्राएं तो तालिबानी राज में अपने भविष्य को लेकर इतना चिंतित हैं कि उन्हें लगता है कि तालिबान को जब यह पता चलेगा कि वे भारत में पढ़ने आयी हैं तो उनके परिवार वालों को तालिबानी कठमुल्ले मार डालेंगे।

कुछ छात्रों ने बताया कि उनके परिवारों से फोन पर बात हुई है, वे अपने घरों में कैद हैं। गौरतलब है कि भारत के विभिन्न विश्वविद्यालयों में करीब 2200 अफगानी छात्र और छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। अफगानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बीच लखनऊ विश्वविद्यालय लखनऊ में अफगानिस्तान को लेकर माहौल गर्म है।

एलयू में करीब 60 अफगानी छात्र पढ़ते हैं। यह अलग अलग कोर्सेस की पढ़ाई कर रहे हैं। जबकि, 12 अफगानी छात्र फाइनल ईयर में हैं। मौजूदा वक्त में अफगानिस्तान के जो हालात हैं उसके मद्देनजर ये सभी छात्र अभी भारत नहीं छोड़ना चाहते।

Leave a Reply