October 3, 2022

अफगानिस्तान में आखिर तख्तापलट हो ही गया आतंकियों के सरदार बनेंगे राष्ट्रपति, राष्ट्रपति भवन पर दिखा तालिबानी झंडा

After all, a coup has taken place in Afghanistan, the president will become the chieftain of the terrorists, the Taliban flag shown on the Rashtrapati Bhavan

अमरेंद्र पांडेय की रिपोर्ट

अफगानिस्तान में कई महीनों से चल रही खूनी संघर्ष में तालिबानियों की आखिरी जीत गई गई अशरफ गनी के हटने और सत्ता में परिवर्तन के बाद तालिबान की तरफ से उसके बड़े नेता मौलाना अब्दुल गनी ब्रदर को राष्ट्रपति बनाया जा सकता है।

रविवार को काबुल में घुसने की साथ ही तालिबानियों का पूरा अफगानिस्तान पर कब्जा हो गया। राष्ट्रपति भवन पर भी कब्जा कर उन्होंने तालिबानी झंडा लहरा दिया एवं उन्होंने अफगानिस्तान का नाम बदलकर ‘इस्लामीक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान’ करने का ऐलान कर दिया तालिबानियों के कब्जा करने से पहले ही अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी और उनके साथ उपराष्ट्रपति अम्रुल्ला सालेह ने भी अफगानिस्तान को छोड़ दूसरे गुप्त जगह पर शरण ले लिया।

शरिया कानून को लागू करेगा तालिबान

तालिबानियों ने 20 साल पहले तालिबानी शासन को याद दिलाते हुए कठोर शरिया कानून लागू करने को कहा है। आगे तालिबान ने सरकारी कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि, एक नई शुरुआत करें और भ्रष्टाचार घोटाला से सावधान रहें।

आपको बता दें कि तालिबान ने अफगानिस्तान के ज्यादातर हिस्सों में कंधार, हेरात, मजार शरीफ और जलालाबाद जैसे शहरों समेत 34 में से 25 प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा कर लिया था। तालिबान के लड़ाके काबुल शहर के बाहरी इलाकों में रविवार में प्रवेश कर लिया था, जिससे कि लोगों में दहशत फैल गई, और हवाई हवाई अड्डे से लेकर कई सार्वजनिक जगहों पर लोगों की भीड़ नजर आई।

Leave a Reply