October 5, 2022

एक ट्रिलियन डॉलर खर्च कर भी गुलाम होने से नहीं बचा सका अमेरिका, क्या है तालिबानियों के अकूत संपत्ति का राज

America could not save from being a slave even after spending a trillion dollars, what is the secret of the vast wealth of the Taliban

क्षितिज यादव की रिपोर्ट

काबुल। किसी भी छोटे और बड़े युद्ध को लड़ने के लिए संसाधन की आवश्यकता होती है। वह संसाधन मानव संसाधन से लेकर बड़े-बड़े हथियार तक हो सकते हैं। जाहिर सी बात है कि मानव संसाधन को मशीनी हथियारों के साथ जोड़े रखने और उनसे युद्ध करवाने के लिए जोश जुनून के अतिरिक्त एक बहुत बड़ी संपत्ति की भी आवश्यकता होती है। ऐसे में आज जब एक आतंकी संगठन अफगानिस्तान को अपने अधिकार में ले चुका है तो सवाल यह उठता है कि आखिरकार आतंकियों के पास कितनी संपत्ति है और वह कहां से आई है।

2016 के फोर्ब्स पत्रिका द्वारा जारी किए गए सबसे अमीर आतंकी संगठनों की सूची को खंगालने से पता चला कि उस समय अफगानिस्तान का आतंकी संगठन तालिबान सबसे अमीर आतंकी संगठनों के लिस्ट में पांचवें स्थान पर था। फोर्ब्स पत्रिका ने उस समय आतंकी संगठन तालिबान का वार्षिक कारोबार 400 मिलियन आंका था। इस समय लगभग समाप्त हो चुका आतंकी संगठन आई एस आई प्रथम स्थान पर था।

कैसे बढ़ी तालिबान की संपत्ति और ताकत

फोर्ब्स पत्रिका के 2016 का रिपोर्ट अब काफी पुराना हो चुका है। रेडियो लिबर्टी /रेडियो फ्री यूरोप में नाटो के गोपनीय रिपोर्ट की माने तो उसके मुकाबले 2019-20 मे तालिबानियों के संपत्ति में चार सौ प्रतिशत की वृद्धि हो चुकी है। इस रिपोर्ट में तालिबान का वार्षिक बजट 1.6 अरब डालर का हो गया था।

इस अकूत संपत्ति का भंडारण तालिबान मादक पदार्थों की तस्करी, किसी व्यक्ति से सुरक्षा देने के नाम पर की गई वसूली, जिन क्षेत्रों में तालिबान का कब्जा था उनमें की गई अलग-अलग प्रकार की वसूली, तथा इस तालिबानी सोच को समर्थन करने वाले कुछ चंद लोगों से लिए गए चंदे के माध्यम से करता है।

एक ट्रिलियन डॉलर अमेरिका ने खर्चे

संयुक्त राज्य अमेरिका दावा करता है कि अफगानिस्तान को तालिबानियों से सुरक्षा देने के मामले में उसे कुल 1 ट्रिलियन डॉलर सैन्य खर्च आया। इसमें अमेरिका द्वारा अफगानी सैनिकों को सैन्य ट्रेनिंग देने तथा तालिबानियों से खुद लड़ने का खर्च शामिल है। भले ही दशकों तक अमेरिकी सैनिक अफगानिस्तान में रहे परंतु जब वे वापस गए तो तालिबान ने आज संपूर्ण अफगानिस्तान पर कब्जा कर अपने झंडे गाड़ दिए।

Leave a Reply