October 5, 2022

भारत-चीन के मुसलमानों को उकसाने कि कोशिश ,कतर समाजशास्त्री का भड़काऊ वीडियो वायरल

Attempts to incite Muslims of India-China, provocative video of Qatari sociologist goes viral

प्रखर दुबे की रिपोर्ट

अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्ज़ा होने से इस्लामिक कट्टरपंथी कुछ ज्यादा ही ज़ोश में आगये है।कतर के मशहूर समाजशास्त्री डॉ. अब्द अल-अजीज अल-खजराज अल-अंसारी ने चीन और भारत के मुसलमानो को उकसाते हुए कहा है कि तालिबान ने 1997 से जिहाद छेड़ने के बाद अब जीत हासिल की है।

उन्होंने कहा कि दुनिया में सभी समस्याओं का बलपूर्वक और जिहाद से ही समाधान किया जा सकता है।यूट्यूब पर पोस्ट किए अपने वीडियो में अल अंसारी कहते दिखे की दूनियाभर में मुस्लिमों की स्थिति ठीक करने के लिए जिहाद की जरूरत पर जोर दिया जाना चाहिए । डॉ. अल-अंसारी ने कहा कि सीरिया, यमन, चीन और भारत में मुसलमानों की स्थिति को जिहाद छेड़कर और फिलीपींस की तरह बल का इस्तेमाल करके ठीक किया जा सकता है।दुनिया बल से ही जीती जा सकती है उसका उपरोक्त उदहारण नार्थ कोरिया है जिसके सामने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प भी खुद चल कर गए थे।

अल अंसारी ने यह भी कहा की, “ओसामा बिन लादेन को अमेरिका को न सौंपकर तालिबान ने अपनी मर्दानगी साबित कर दी थी।जबकि अरब नेता अमेरिका की आवभगत में लगे रहते हैं. अल अंसारी ने कहा, “हम मुसलमान हैं, और काफिरों के सामने नहीं झुकते”

इमरान खान ने भी दिया था विवादित बयान

तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान अधिग्रहण के बाद इमरान खान ने कहा था कि अफगानों ने गुलामी की जंजीरे तोड़ दी हैं।पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी तालिबान के शासन का समर्थन करते नजर आए।कुरैशी ने कहा कि तालिबान ने महिलाओं की शिक्षा पर रोक नहीं लगाई है। तालिबान के खिलाफ प्रोपेगैंडा फैलाया जा रहा है।

देश की अखंडता पे वार करना चाहते है जिहादी

कतर समाजशास्त्री के बयान पे गौर फरमाया जाये या इमरान खान के बयान पे ,दोनों ही बयानों में यह साफ ज़ाहिर है कि अन्य देश के मुसलमानों को भड़का कर पूरे विश्व में जिहादीयों को बढ़ावा दिया जा रहा है ।ऐसे में भारत में भी मुसलमानों की संख्या कम नहीं है और इस तरह की बयानबाजी से भारत देश की अखंडता को आहत नहीं किया जा सकता है ।

Leave a Reply