October 5, 2022

Bihar Politics: पुत्र मोह में अपनों से, दूर हो रहे लालू, आरजेडी पर भारी पड़ रही तेज प्रताप की मनमानी

Bihar Politics: Tej Pratap's arbitrariness over Lalu RJD getting away from his loved ones

अमरेंद्र पांडेय की रिपोर्ट

21 जून को पार्टी के 25 वें स्थापना दिवस के बाद से जदयू में घमासान मचा हुआ है, लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की भड़काऊ बयानों के कारण पार्टी में वरिष्ठ नेता नाराजगी जाहिर कर रहे हैं, कोई इस्तीफे दे रहा है।

आपको बता दें कि लालू- राबड़ी परिवार से जगतानन्द सिंह का रिश्ता निर्णायक दौर में पहुँच चुका है। लालू अपने पुत्र प्रेम
में कोई कदम उठा नहीं पा रहे हैं, वहीं राजद के सबसे अनुभवी और वरिष्ठ नेता जागनंद सिंह का 8 दिन से कार्यालय से ताल्लूक ना रखना, दर्शाता है कि वे कितना नाराज हैं, फिर भी तेज प्रताप अपने भड़काऊ बयानो से ट्रोल होते रह रहे हैं।

जगता नंद को मनाने-समझाने के सारे प्रयास अभी तक विफल साबित हुए हैं। लालू के करीबियों में जगदानंद सिंह पहले व्यक्ति नहीं हैं, जिन्हें उनके बेटे तेज प्रताप यादव के बयानों से धक्का लगा है। इसके पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह और आरजेडी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे पर भी तेज प्रताप के बयानों की गाज गिर चुकी है। रघुवंश तो इतने व्यथित हुए कि अपने आखिरी क्षणों में अस्पताल से ही लालू का साथ छोड़ने का ऐलान कर दिया था।

फिर भी तेज प्रताप की जुबान रुकी नहीं और वह अपने भड़काऊ टिप्पड़ी करते रहते हैं। नतीजतन पुत्र के प्रति मोह से लालू अपने अनुभवी नेताओं से लगातार बिछड़ते जा रहे हैं।

Leave a Reply