June 14, 2021

बिहार: ओसामा शहाब से सलीम परवेज ने की मुलाकात… कही ये बातें

सिवान: पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मृत्यु के पश्चात आरजेडी से इस्तीफा दे देने वाले सलीम परवेज बुधवार को प्रतापपुर पहुंच गये।प्रतापपुर में उन्होंने शहाबुद्दीन के पुत्र ओसामा शहाब से मुलाकात की व सांत्वना दी। दिवंगत नेता के 40वीं के मौके पर उनके पैतृक गांव पहुंचे बिहार विधान परिषद के पूर्व उपसभापति सलीम परवेज बोले कि मोहम्मद शहाबुद्दीन की मृत्यु एक अपूर्णीय क्षति है, जिसे लम्बे समय तक पूर्ण नहीं किया जा सकता।

आरजेडी ने नही किया उनका सम्मान

उन्होंने कहा कि जब मो. शहाबुद्दीन का दिल्ली मे निधन हुआ, तभी तेजस्वी यादव वहां से केवल 5 किमी की दूरी पर थे। लेकिन वे मिट्टी देने तक के लिए नहीं आये।तो जब वो वहां नहीं गए तो भला सिवान क्या पहुंचेंगे। ये बात राज्य के लोगों को समझना चाहिए।पर आरजेडी ने शहाबुद्दीन के साथ जो किया वह बहुत गलत है।वर्ष 1995 व 2001 में शहाबुद्दीन ने खुद के दम पर आरजेडी की सरकार बनवा दी थी,पर उनके निधन के पश्चात उनका सम्मान भी नहीं किया गया।यह अत्यंत खेदपूर्ण है।

शहाबुद्दीन की मृत्यु के शोक में छोड़ी पार्टी

आरजेडी से इस्तीफा देने के परिप्रेक्ष्य में उन्होंने कहा कि शहाबुद्दीन की मृत्यु के पश्चात उनके दिल को गहरा धक्का लगा व उन्होंने क्विक डिसीजन लेते हुए आरजेडी से इस्तीफा दे दिया। शहाबुद्दीन राष्ट्रीय नेता थे, उनके साथ अनुचित हुआ।उनका इस्तेमाल सिर्फ वोट बैंक के लिए किया गया। शाहबुद्दीन को जब वर्ष 2001 में पहली ठोकर लगी, उनके परिवार को तब ही समझ जाना चाहिए था।

पार्टी से दे दिया था इस्तीफा

बता दें कि पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की मृत्यु के पश्चात उनके शोक में पद से इस्तीफा देने वाले बिहार विधान परिषद के पूर्व उपसभापति-सह-आरजेडी के प्रदेश उपाध्यक्ष सलीम परवेज द्वारा करीमचक स्थित अपने निज आवास पर आयोजित प्रेसवार्ता में इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा गया था कि शहाबुद्दीन राष्ट्रीय जनता दल के संस्थापकों में से एक थे व उन्होंने पार्टी के गठन में भूमिका निभाने के साथ- साथ लालू तथा राबड़ी के नेतृत्व में बिहार राज्य में स्थापित होने वाली सरकारों के गठन में भी कई विपरीत परिस्थितियों में सक्रिय व अहम भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Copyright © All rights reserved. The Times Of Hind | Newsphere by AF themes.