October 3, 2022

बिहार में अब थर्मोकल पत्ता और प्लास्टिक ग्लास हुआ बैन पकड़े जाने पर होगा 5 साल का जेल

बिहार में शादी ब्याह का भोज कितना लोकप्रिय हैं. यह तो सभी जानते हैं, लेकिन अब इस भोज भात की चमक थोड़ी फीकी पड़ सकती है, क्योंकि सरकार ने बड़ा फैसला ले लिया है. दरअसल राज्य में कल से प्लास्टिक के उपयोग पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगी . इसका प्रयोग करने वाले लोगों को जेल भी जाना पड़ सकता है. इसके साथ ही जुर्माने का भी प्रावधान तय किया गया है.

फ़िलहाल बिहार में सिंगल यूज प्लास्टिक का विकल्प तैयार नहीं किया जा सका है, क्योंकि राज्य में बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक का उत्पादन हो रहा है. एक रिपोर्ट के अनुसार इसका उत्पादन मई 2022 से शुरू होने की संभावना है. इसके लिए राज्य के प्लास्टिक उत्पादकों ने बायो डिग्रेडेबल दाना को सीपेट चेन्नई में टेस्टिंग के लिए भेजा है, जिसमें 6 से 7 महीने का समय लगेगा.

वही बिहार में प्रतिदिन 60 टन से ज्यादा एकल उपयोग वाले प्लास्टिक का उत्पादन होता है. राज्य लगभग 20 बड़ी उत्पादन इकाइयां है जो निबंधित हैं. प्लास्टिक इंडस्ट्री में लगभग सौ करोड़ रुपये की पूंजी लगी हुई है,जिसमें बैंकों द्वारा भी कई इकाइयों को कर्ज दिया गया है. बीपीआईए के एक कर्मचारी का कहना है कि सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगने से इस धंधे में लगे उद्यमियों की पूंजी टूट जाएगी और कई उद्यमी कर्ज में फंस जायेंगे.

Leave a Reply