October 7, 2022

Wrong UPI Transactions: क्या यूपीआई की मदद से हो गया है गलत अकाउंट पर ट्रांसफर? ऐसे पाएं पैसा वापस 

Wrong UPI Transaction: पैसे भेजने के लिए UPI (Unified Payments Interface) सबसे पॉप्युलर माध्यम बन गया है. इसकी सबसे खास बात है कि यह पूरी तरह मुफ्त है. July के महीने में UPI (Unified Payments Interface) की मदद से 600 करोड़ ट्रांजैक्शन किए गए जिसकी Money Value 10 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा है.

आपको बता दे जब इतने बड़े पैमाने पर UPI ट्रांजैक्शन (UPI payment) किए जाएंगे तो गलती की गुंजाइश भी ज्यादा होगी. ऐसा अक्सर होता है कि जब आप किसी नए शख्स को UPI payment करते हैं तो कुछ शब्द की गलती से गलत Bank Account में पैसे Transfer हो जाते हैं. अगर आपके साथ ही ऐसा हुआ है तो आपके लिए यह बहुत काम की खबर है.

Bank को Proof जमा करना होगा

अगर आपने गलत Bank Account में पैसे Transfer कर दिए हैं, जिसमें Bank account Holder का नाम सिमिलर है तो Bank को इसका प्रूफ देना होगा कि आपसे यह गलती हुई है. जब आप बैंक को इसकी शिकायत करेंगे तो मेल में इसकी डिटेल जानकारी शामिल करें. अगर यह Other Bank ट्रांजैक्शन है, मतलब दो अलग-अलग बैंकों के बीच ट्रांजैक्शन किया जाता है तो बैंक आपकी जगह पर रिसीवर को संपर्क करने की कोशिश करेगा.

Helpline Number पर गलत ट्रांजैक्शन की सूचना दें
अगर आपने भी गलत अकाउंट में यूपीआई (Unified Payments Interface) की मदद से पैसे ट्रांसफर कर दिए हैं तो घबराने वाली बात नहीं है. गलत ट्रांजैक्शन होने पर सबसे पहले मैसेज का Screenshot ले लें. इस मैसेज में एक Helpline Number होता है जिसपर Call करें और इसकी सूचना दें.

Bank को भी इस ट्रांजैक्शन के बारे में बताएं और जल्द से जल्द Bank Branch Maneger से मिलें. एक महत्वपूर्ण बात को समझना जरूरी है. अगर UPI ID मौजूद होगा तो ही Balance Transfer होगा. अगर गलत आईडी मौजूद ही नहीं होगा तो आपके अकाउंट में खुद-ब-खुद Money Refund हो जाएंगे.

Bank आपकी हर तरह से मदद की कोशिश करेगा
Others Bank ट्रांजैक्शन के मामले में आपका बैंक रेसिपेंट से संबंधित पूरी जानकारी शेयर करेगा. वह Account Holder Name, Branch, Mobile समेत अन्य तरह की जानकारी शेयर कर सकता है.

ऐसे मामलों में आप रिसीवर के ब्रांच में जाकर मैनेजर से बात कर सकते हैं और उनसे रिक्वेस्ट कर सकते हैं. दूसरे बैंक का मैनेजर भी रिसीवर से बात करेगा और आपका पैसा वापस करने के लिए कहेगा.

7 Working Days के भीतर Money Refund मिल सकते हैं
अगर प्राप्तकर्ता यानी रेसिपेंट पैसे ट्रांसफर करने के लिए तैयार हो जाता है तो 7 Working Days के भीतर अकाउंट पर पैसे वापस आ जाएंगे. अगर वह पैसे वापस करने को तैयार नहीं होता है तो परेशानी ज्यादा होगी. इस मामले में कानूनी राह भी चुना जा सकता है.

Leave a Reply