October 7, 2022

किसानों का कृषि कानून को लेकर आंदोलन जारी ,स्वतंत्रता दिवस पर मनाएंगे “किसान संग्राम दिवस ”

Farmers' agitation against agriculture law continues, "Kisan Sangram Day" will be celebrated on Independence Day

प्रखर दुबे की रिपोर्ट

कृषि कानूनों के विरोध और एमएसपी पर कानून बनाए जाने की मांग को लेकर दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे भाकियू एवं अन्य किसान संगठनों ने स्वतंत्रता दिवस पर किसान-मजदूर संग्राम दिवस मनाने का निर्णय लिया है। इस दिन किसान अपने जिले में गांव और तहसीलों में अपने वाहनों से तिरंगा यात्रा निकाल कर सरकार को अपनी शक्ति का एहसास कराएंगे। भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने किसानों से शांति पूर्वक तरीके से इस दिवस को मनाने का आह्वान किया है।

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा को मद्देनजर रख कोई भी आदेश दे सकती है सरकार

लंबे वक्त से चले आ रहे किसान आंदोलन ने कई नए मोड़ देखे हैं, जिसमे 26 जनवरी को हुई हिंसा से पूरा देश आहात है ।ऐसे में दूसरी रैली निकालने की बात करते दिखे भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ।बरहाल अपनी ताकत का प्रदर्शन करने में भाकियू और अन्य किसान संगठन अपनी जान झोंक देंगे जिससे उनके आंदोलन को बल मिले ।सरकार इस रैली को संचालित होने की अनुमति देती है या नहीं या स्वतंत्रता दिवस पर भी हिंसक गतिविधियों के छीटें आते है, ये देखने वाली बात होगी ।

सरकार के ज़िद्दी रवैये से परेशान भाकियू अध्यक्ष

भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने अपने बयान में कहा – विगत 9 महीनों से चले आ रहे किसान आंदोलन में किसानों ने अपना बहुत कुछ खोया है और इतनी मुश्किलों के बावजूद किसानों की एक ना सुनी गयी ।किसान अपने हक की लड़ाई लड़ने से पीछे नहीं हटेंगे। किसानों ने यह निर्णय किया है कि वे शांतिप्रिय तरीके से तिरंगे के साथ रैली निकालेंगे ,जिससे सरकार के रवैये में कुछ बदलाव आये और उनकी बात को माना जाये ।

Leave a Reply