October 3, 2022

अगर ये लिखा आ रहा हैं तो जल्द आएगा 12वी किस्त के पैसे, FTO is Generated And Payment Confirmation Is Pending

FTO is generated and Payment confirmation is pending : भारत एक कृषि प्रधान देश हैं, किसानो के लिए भारत सरकार बहुत सारी योजनाए चलाती उसमे से एक हैं पीएम किसान योजना. पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के लाभार्थी किसानों का इंतजार खत्म होने को है, 4 दिन बाद देश भर के करोड़ों किसानों को योजना की 12वीं किस्त जारी की जा रही है. हालांकि इस संबंध में अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के 12वीं किस्त का समय 1 अगस्त से 30 नवंबर तक है, लेकिन अक्सर यह अगस्त में ही आता है। जब राज्य सरकारें आपके दस्तावेज़ों का सत्यापन कर रही थीं, तो आपकी स्थिति को अगली किस्त के लिए राज्य द्वारा अनुमोदन की प्रतीक्षा के रूप में पढ़ा गया था। यानी 2000 रुपये की राशि मिलने में थोड़ी देरी हो रही है. राज्य सरकार ने अभी तक आपके खाते में 2000 की राशि भेजने की स्वीकृति नहीं दी है।

ऐसे चेक करे अपना स्टेटस

  • सबसे पहले PM Kisan Yojana की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं।

  • आपको Farmers Corner का विकल्प मिलेगा
  • यहां ‘लाभार्थी स्थिति’ के विकल्प पर क्लिक करें, यहां एक नया पेज खुलेगा।

  • नए पेज पर Aadhar Card Number, Bank Account Number में से कोई एक विकल्प चुनें।

  • आपके द्वारा चुने गए विकल्प की संख्या दर्ज करें, इसके बाद ‘गेट डेटा’ पर क्लिक करें।
  • यहां क्लिक करने के बाद आपको लेन-देन की पूरी जानकारी मिल जाएगी।

PM Kisan स्टेट्स करें चेक

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) की वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर स्टेटस चेक (PM Kisan 12th Installment Payment Status) कर रहे हैं तो Rft Signed by State for 1st, 2nd, 3rd, 4th, 5th 6th, 7th, 8th, 9th, 10th, 11th, 12th installment लिखा मिलेगा। RFT का मतलब है Request For Transfer. इसका सीधा मतलब है कि राज्य सरकार ने लाभार्थी का डेटा चेक कर लिया है, जो सही मिला है.

मतलब ऐसे मामलों में राज्य सरकार की तरफ से केंद्र को अनुरोध किया गया है कि लाभार्थी के अकाउंट में किस्त का पैसा भेज दिया जाए. अगर आपको FTO is generated and Payment confirmation is pending लिखा हुआ दिखाई दे रहा है तो इसका मतलब है कि फंड ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

इन 10 कंडीशन में नहीं मिलेगा लाभ

  • कोई किसान खेती करता है लेकिन वह खेत उसके नाम न होकर उसके पिता या दादा के नाम हो तो उसे 6000 रुपये सालाना का लाभ नहीं मिलेगा.

  • कोई किसान किसी दूसरे किसान से जमीन लेकर किराए पर खेती करता है, तो भी उसे भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

  • सभी संस्थागत भूमि धारक भी इस योजना के दायरे में नहीं आएंगे.
  • कोई किसान या परिवार में कोई संवैधानिक पद पर है तो उसे लाभ नहीं मिलेगा.

  • राज्य/केंद्र सरकार के साथ-साथ पीएसयू और सरकारी स्वायत्त निकायों के सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी होने पर भी योजना के लाभ के दायरे में नहीं आएंगे.

  • डॉक्टर, इंजीनियर, सीए, आर्किटेक्ट्स और वकील जैसे प्रोफेशनल्स को भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा, भले ही वह किसानी भी करते हों.

  • 10,000 रुपये से अधिक की मासिक पेंशन पाने वाले सेवानिवृत्त पेंशनभोगियों को इसका लाभ नहीं मिलेगा.
  • अंतिम मूल्यांकन वर्ष में इनकम टैक्स का भुगतान करने वाले पेशेवरों को भी योजना के दायरे से बाहर रखा गया है.

  • किसान परिवार में कोई म्यूनिसिपल कॉरपोरेशंस, जिला पंचायत में हो तो भी इसके दायरे से बाहर होगा.

Leave a Reply