December 8, 2022

पीएम किसान योजना की 12वीं क‍िस्‍त के बाद एक और खुशखबरी, सरकार ने फ‍िर भेजे क‍िसानों के खातों में पैसे

Godhan Nyay Yojana : क्या आपके बैंक खता में PM Kisan Samman Nidhi की 12वीं क‍िस्‍त के 2000 रुपये आ चुके हैं तो यह खुशखबरी सिर्फ आपके लिए हैं. जानकारी के लिए आपको बता दे की, छत्तीसगढ़ सरकार (Government Of Chhattisgarh) की तरफ से क‍िसानों को एक और सौगात दी गई है.

छत्‍तीसगढ़ सरकार (Government Of Chhattisgarh) के तोहफे के बाद उन क‍िसानों को सबसे ज्‍यादा फायदा होगा ज‍िन्‍हें पीएम क‍िसान योजना (Pm Kisan Yojana) की 12वीं क‍िस्‍त के पैसे म‍िल चुके हैं. CM Bhupesh Baghel ने किसानों और गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana) के लाभार्थ‍ियों को 78 करोड़ रुपये से भी ज्‍यादा की राशि का भुगतान किया है.

छत्तीसगढ़ में 3,089 गौठान स्वावलंबी
इस दौरान CM Bhupesh Baghel ने कहा क‍ि छत्तीसगढ़ में महात्मा गांधी के स्वावलंबी गांवों की परिकल्पना धीरे-धीरे साकार हो रही है. जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों की तरफ से यह जानकरी दी गई. गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana) के तहत गांवों में बनाए गए गौठानों में से 3,089 गौठान स्वावलंबी हो गए हैं.

15 से 31 अक्टूबर तक भेजा गया पैसा
जानकारी के लिए आपको बता दे, 15 अक्टूबर से 31 अक्टूबर, 2022 तक गौठानों में क्रय किए गए गोबर की एवज में भुगतान की गई राशि में से लगभग 50 प्रतिशत का भुगतान स्वावलंबी गौठानों द्वारा किया गया है. बघेल गोधन न्याय योजना के लाभार्थी को गोबर खरीद की राशि, महिला स्वयं सहायता समूहों और गौठान समितियों को लाभांश राशि और गन्ना उत्पादक किसानों को गन्ना प्रोत्साहन राशि के वितरण के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

5.35 करोड़ की राशि जारी की
अधिकारियों ने बताया कि अक्टूबर माह के आख‍िरी पखवाड़े में खरीदे गए गोबर के एवज में कुल 4.69 करोड़ का भुगतान ग्रामीणों और पशुपालकों को किया गया है. इस राशि में से विभाग द्वारा 2.37 करोड़ रुपये और स्वावलंबी गौठानों द्वारा 2.32 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में गोबर विक्रेता पशुपालक ग्रामीणों, गौठानों से जुड़ी महिला समूहों और गौठान समितियों को 5 करोड़ 35 लाख रुपये की राशि ऑनलाइन जारी की.

26 लाख लाथार्थी ले रहे फायदा
गौठनों में 15 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक पशुपालक ग्रामीणों, किसानों, भूमिहीनों से क्रय किए गए 2.35 लाख क्विंटल गोबर के एवज में किया गया 4.69 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया. आपको बता दें राज्‍य सरकार ने गोधन न्‍याय योजना के तहत सूबे के क‍िसानों, भूम‍िहीन खेतीहर मजदूरों, पशुपालकों और एसएचजी की मह‍िलाओं को यह राश‍ि दी है.

इस योजना (Godhan Nyay Yojana) का मुख्य उद्देश्‍य छत्तीसगढ़ के क‍िसानों की आय में बृद्धि करना हैं. छत्‍तीसगढ़ सरकार (Government Of Chhattisgarh) ने इस राश‍ि को पीएम क‍िसान योजना (Pm Kisan Yojana) की तरह सीधे 26 लाख से ज्‍यादा लाथार्थ‍ियों के खातों में ट्रांसफर क‍िया है.

Input : Zee News

Leave a Reply