देश की मोदी सरकार किसानों के आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए उन्हे सालाना 6 हज़ार रूपए भेजती है। ये 6 हज़ार रुपए 2 हज़ार की तीन किस्तों में भेजा जाता है। वर्तमान में देश भर में 12 करोड़ से अधिक किसान है जो इस योजना का लाभ ले रहे हैं। लेकिन अब इससे जुड़ी एक बहुत बड़ी खबर आई है जिसे जान लेना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

गौरतलब है कि किसानों को इस वक्त इस योजना के 11वीं किस्त का इंतज़ार है।11वीं क‍िस्‍त के 2000 रुपये अप्रैल से जुलाई के बीच क‍िसानों के खाते में ट्रांसफर होंगे। सरकार ने इसके ल‍िए 31 मई तक ई-केवाईसी कराने की अंत‍िम‍ त‍िथ‍ि तय की है।गौरतलब है कि ये खबर उत्तर प्रदेश से आई है जहां पर 3 लाख से अधीक किसानो को इस योजना के लिए अपात्र पाया गया है।

यूपी में पता चली है कि 3 लाख अपात्रों में से ऐसे लोग भी है जो इनकम टैक्स देते हैं, मृत हो चूके हैं। सरकार की योजना इन अपात्र किसानो को योजना के दायरे से बाहर निकाल कर ऐसे किसानो को जोड़ने का है जो सच में जरूरत मंद हैं। अपर मुख्य सचिव कृषि डॉ. देवेश चतुर्वेदी ने अपात्र किसानों का नाम ल‍िस्‍ट से हटाने और मृतक क‍िसानों की जगह नए किसानों को शाम‍िल करने का आदेश दिया है।

जल्द करा ले Ekyc

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार ने ई-केवाईसी कराने के ल‍िए 31 मई की अंत‍िम त‍िथ‍ि तय की गई है।अब आप ई-केवाईसी अपने मोबाइल और लैपटॉप से भी कर सकते हैं। पहले इस सुव‍िधा को बंद कर द‍िया था लेक‍िन अब फ‍िर से शुरू कर द‍िया है।

Leave a Reply