October 4, 2022

गुजरात में अब शेरों की आबादी हुई सात सौ के पार !

राजकोट: एशियाई शेरों की शरणस्थली गुजरात में शेरों की संख्या को लेकर इस वर्ष अच्छी खबर आई है। गिर अभ्यारण्य और उसके पास के क्षेत्रों में शेरों की संख्या में इजाफा हुआ है। वर्ष 2021 में वन विभाग द्वारा किए गए ‘पूनम अवलोकन’ में एशियाई शेरों की संख्या बढ़कर 700 के पार होने की जानकारी आई है। यह संख्या 710 से 730 होने की बात कही। जा रही है। बीते वर्ष 2020 के पूनम अवलोकन में यह संख्या 674 मिली थी।

यानी बीते साल की तुलना में छह से आठ फीसदी तक का इजाफा हुआ है । सुरक्षित वातावरण और भोजन की पर्याप्त उपलब्धता के कारण शेरों की आबादी में लगातार बढ़त हुई है। वर्ष 2015 में शेरों की गिनती की गई थी। तब उनकी संख्या 523 पाई गई थी। पांच साल बाद यानी 2020 में शेरों की गिनती होनी थी, लेकिन कोरोना के चलते यह गणना स्थगित करनी पड़ी थी। गिर अभयारण्य क्षेत्र के भीतर शेरों की संख्या घटी है, जबकि बाहरी और आसपास के क्षेत्र में बढ़ी है।

कुल शेरों में से गिर के जंगलों के अंदर 2015 में 356 शेर पाए गए थे, जो 2020 में 345 हो गए। इसी तरह 2015 में जंगल के बाहर रहने वाले शेरों की संख्या 167 थी, जो वर्ष 2020 में 329 रेकॉर्ड की गई। शेरों की भी संख्या बढ़ी है वह बाहर के क्षेत्र जैसे अमरेली के सावरकुंडला, लीलिया और साउथ इस्टर्न कोस्ट में बढ़ी है।

Leave a Reply