PM Kisan Samman Nidhi: देश के करोड़ों किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी है. पीएम मोदी (PM Modi) ने नए साल पर देश के किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. केंद्र सरकार (Central Government) ने आज प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojana) की 10वीं किस्त का पैसा सीधा किसानों के खाते में ट्रांसफर कर दिया है. प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को 10.09 करोड़ किसानों को पीएम-किसान योजना के तहत 20,900 करोड़ रुपये की 10वीं किस्त जारी की है.

सरकार देती है आर्थिक सहायता
प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित कार्यक्रम में लाभार्थियों को यह राशि जारी की है. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (PM Kisan Scheme) के तहत पात्र किसानों को एक साल में 6,000 रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है. किसानों को यह राशि 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में उनके बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है.

1.24 लाख किसानों को होगा फायदा
पीएम मोदी ने वर्चुअल कार्यक्रम में 351 कृषक उत्पादक संगठनों (FPO) को 14 करोड़ रुपये से अधिक का इक्विटी अनुदान भी जारी किया है. इससे 1.24 लाख किसानों को फायदा होगा. इस कार्यक्रम में नौ राज्यों के मुख्यमंत्री, विभिन्न राज्यों के मंत्री और कृषि संस्थानों के प्रतिनिधि भी वर्चुअल तरीके से शामिल हुए.

ट्रांसफर किए 20,900 करोड़
इस मौके पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नए साल 2022 के पहले दिन 10.09 करोड़ लाभार्थियों के खातों में 20,900 करोड़ रुपये की राशि ट्रांसफर की गई है. उन्होंने कहा कि पीएम-किसान कार्यक्रम सरकार के किसानों की आमदनी को दोगुना करने के प्रयासों में मदद करने के लिए शुरू किया गया है.

1.8 करोड़ रुपये किए जा चुके हैं ट्रांसफर
इससे पहले पीएम-किसान की नौवीं किस्त अगस्त, 2021 में जारी की गई थी. आज जारी राशि के बाद अबतक इस योजना के तहत किसानों को 1.8 लाख करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जा चुके हैं. पीएम-किसान योजना की घोषणा फरवरी, 2019 के बजट में की गई थी. इसके तहत पहली किस्त दिसंबर, 2018 से मार्च, 2019 की अवधि के लिए जारी की गई थी.

पैसा नहीं आने पर इन नंबरों पर करें शिकायत
पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266
पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261
पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401
पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606
पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109
ई-मेल आईडी: [email protected]

Leave a Reply