October 7, 2022

PM Kisan Tractor Yojana : ट्रैक्टर खरीदने पर सरकार किसानों को दे रही है 50% तक सब्सिडी, यहां जाने कैसे करें आवेदन

PM Kisan Tractor Yojana : देश में किसानों की स्थिति(Status Of Farmers) को सुधारने और उनको किसानों के खाते में सालाना डाले जाते है 6000 रुपये: बता दें की किसानों को खेती के लिए कई तरह की मशीनों की भी जरूरत पड़ती है। ऐसे में किसानों की मदद के लिए MODI सरकार ने ट्रैक्टर(Tractor) खरीदने पर Subsidy दे रही है। वहीं यह Subsidy ‘पीएम किसान ट्रैक्टर योजना’ (PM Kisan Tractor Yojana) के तहत दी जा रही है।

दरअसल, किसानों को खेती के लिए ट्रैक्टर बेहद जरूरी(Tractor Is Very Important) है, लेकिन देश में कई किसान ऐसे हैं, जिनके पास आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते Tractor नहीं है। ऐसी विकट परिस्थिति में उन्हें Tractor किराए पर लेना पड़ता है या बैलों का उपयोग करते हैं। ऐसे में Government किसानों की मदद के लिए ये PM Kisan Tractor Yojana लेकर आई है। बता दें की PM Kisan Tractor Yojana के तहत किसानों को आधे दाम पर Tractor मुहैया कराएगी।

50 फीसदी मिलेगी सब्सिडी:

बताते चलें की किसानों को Tractor खरीदने के लिए केंद्र सरकार(Central Govt.) सब्सिडी मुहैया कराती है। PM Kisan Tractor Yojana के तहत किसान किसी भी कंपनी का ट्रैक्टर आधे दाम पर खरीद सकते हैं। बाकी का आधा पैसा केंद्र सरकार सब्सिडी(PM Kisan Tractor Yojana) के तौर पर देती है।

आपको बता दें की इसके अलावा कई राज्य सरकारें यानि State Governments भी किसानों को अपने-अपने स्तर पर ट्रैक्टरों(PM Kisan Tractor Yojana) पर 20 से 50 % तक सब्सिडी मुहैया कराती है।

कैसी उठाएं इस योजना का लाभ?

केंद्र सरकार की तरफ से ये सब्सिडी 1 ट्रैक्टर (PM Kisan Tractor Yojana) खरीदने पर ही दी जाएगी। अगर आप भी PM Kisan Tractor Yojana का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी दस्तावेज के रूप में किसान के पास Aadhar Card, जमीन के कागज, Bank Details, Passport Size Photo होनी चाहिए।

इस योजना के तहत किसान किसी भी नजदीकी CSC सेंटर पर जाकर Online Apply कर सकते हैं। इसके अलावा PM Kisan Tractor Yojana का लाभ उठाने हेतु Online Apply करने के लिए हर एक राज्य और केंद्र(State & Central) शासित प्रदेशों ने इसके लिए ऑनलाइन पोर्टल बनाए हैं।

[DISCLAIMER: यह आर्टिकल कई वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. The Times Of Hind अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है]

Leave a Reply