October 4, 2022

उत्तराखंड में सियासी घमासान: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने दीया इस्तीफा, नए मुख्यमंत्री का ताज किस के सर पर होगा

आजाद मोहम्मद शेख की रिपोर्ट

आजाद मोहम्मद शेख की रिपोर्ट


उत्तराखंड में फिर से एक बार सियासी हलचले काफी तेज हो गई हैं। उत्तराखण्ड में जब भी सियासी हलचले तेज हुई हैं, तब उत्तराखंड को एक नए रूप में मुख्यमंत्री मिले हैं उत्तराखण्ड में मुख्यमंत्री के पद पर अभी तक कोई भी व्यक्ति पांच सालो तक अपना सत्ता काल पूरा नहीं किया हैं वह चाहे बीजेपी की सरकार हो या कांग्रेस की सरकार, दोनों पार्टियों को बराबर सत्ता मिलने के बावजूद भी असफल रहे। उत्तराखण्ड के इतिहास काल में 20 सालों में 9 मुख्यमंत्री बदले गए हैं।


शुक्रवार को बीजेपी के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अपना इस्तीफा राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को सौप दिया। तीरथ सिंह रावत ने 10 मार्च 2021 को उत्तराखंड की कमान संभाले थे। और 2 जुलाई 2021 को अपना पद राज्यपाल को सौप दिया। उत्तराखण्ड के 20 साल के इतिहास में सबसे कम दिन मुख्यमंत्री के पद पर रहे। तीरथ सिंह रावत के बाद भगत सिंह 123 दिन के मुख्यमंत्री पद पर रहे थे.

तीरथ सिंह रावत को क्यों देना पड़ा इस्तीफा
तीरथ सिंह रावत 10 मार्च 2021 को उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए थे। अगर तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री पद पर बने रहना था तो 10 सितंबर से पहले किसी उप चुनावों के जरिए विधान सभा पहुंचना था। लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से उपचुनाव को चुनाव आयोग ने टाल दिया है। सूत्रों के हवाले से पता चला हैं कि 2022 में विधान सभा चुनाव को देखते तीरथ सिंह रावत से इस्तीफ़ा लिया गया हैं।


तीरथ सिंह रावत अपने विवादित बयान से बीजेपी कि आने वाली 2022 की विधान सभा चुनाव में मुश्किलें खड़ी कर रहे थे। हाल ही में एक बयान में तीरथ सिंह रावत ने कहा था की वह एक महिला को रिप्ड जींस में एक एनजीओ चलाते हुए देखकर चौंक गया थे, और वह समाज के लिए स्थापित उदाहरण के बारे में चिंतित थे । इन बयानों से पार्टी के लोग काफी नाराज थे। और बीजेपी की छवि खराब हो रही थीं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री का ताज किस के सर पर होगा ?
उत्तराखंड में बीजेपी की मुश्किलें और बढ़ गई है। अब बीजेपी के सामने सबसे बड़ी चुनौती यह है की अगला मुख्यमंत्री किसे चुने। 2022 में विधान सभा चुनावों को देखते हुए वह किसी बाहरी को मख्यमंत्री बनाने का जोखिम नहीं उठा सकते हैं। वैसे उत्तराखंड मुख्यमंत्री के लिए तीन नाम पार्टी की ओर से उभर कर आ रहा है राज्य को फिर से नया सीएम मिलने जा रहा हैं,

बीजेपी अपनी 10 साल की सत्ता में सातवीं बार किसी व्यक्ति को सीएम बनाने जा रही हैं, ऐसे में पहाड़ी राज्य को अस्थिरता के बीच कई नाटकिये मोड़ देखे जा रहे है। सीएम की रेस में सतपाल सिंह और धनसिंह रावत का नाम जोर पकड़ रहा हैं । अब भाजपा किसका राज्याभिषेक करती है, यह आज स्पष्ट हो जाएगा

Leave a Reply