नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में एक टू-व्हीलर को आरटीओ द्वार ऐसा नंबर जारी किया गया है, जिससे एक परिवार परेशान हो गया है। जी हां इस परिवार के नए टू-व्हीलर को जो नंबर जारी किया गया है। उसी ने मुसीबत खड़ी कर दी है। यह मामला दक्षिणी दिल्ली आरटीओ से जुड़ा है। दरअसल साउथ दिल्ली आरटीओ की ओर से वाहनों के डीएल3सी और डीएल3एस सीरीज के नंबर जारी किए जाते हैं।

इसके तहत पिछले महीने डीएल3 ‘एसईएक्स’ सीरीज के नए नंबर अलॉट हुए हैं। और यह सीरीज ही सीरीज वाहन खरीदारों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। क्योंकि इस सीरीज के तहत जो अल्फाबेट्स ‘एसईएक्स’ दिए गए हैं, वो ऐसे अटपटे हैं, जिससे सेक्स जैसा शब्द शब्द बन रहा है। खास बात यह है कि इस सीरीज के करीब 10 हजार गाड़ियों को नंबर अलॉट किए जा चुके हैं।

इस सीरीज ने पकड़ा तूल

ऐसे में इस विवादास्पद शब्द वाले सीरीज का नंबर अब एक लड़की के टू-व्हीलर को अलॉट हो गया है, जिससे मामला तूल पकड़ता जा रहा है। क्योंकि लड़की की स्कूटी को आरटीओ की तरफ से जो नंबर मिला है, उसके बीच के अंकों में एस.ई.एक्स. अल्फाबेट्स हैं। हालांकि देखा जाए तो संभवत: इस तरह का यह पहला मामला है। इस कारण खुद विभाग के अधिकारी भी ऐसे हालात में क्या करना चाहिए, उसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं। उधर अब लड़की का परिवार अपने स्कूटी के नंबर को बदलवाना चाहता है तो आइए जानते हैं क्या कहता है इसका नियम।

अलॉट नंबर नहीं बदलता

दिल्ली परिवहन विभाग का कहना है जब किसी वाहन का पंजीकरण नंबर जारी कर दिया जाता है तो उसे बदला नहीं जा सकता है। इसलिए जो नंबर जारी हो गया है उसे वापस नहीं बदल सकते है सिस्टम में इसकी व्यवस्था नहीं है। लेकिन किसी को अपने वाहन के नंबर की वजह से परेशानी हो रही हो, खासकर लड़की है तो फिर ऐसे मामले को लेकर सीनियर अथॉरिटी ही कोई निर्णय ले पाएगा।

सरकार ने लगाई इस सीरीज पर रोक

हालांकि इस विवादित वाहन पंजीकरण सीरिज पर सरकार ने रोक लगा दी है। आगे से उस सीरिज पर कोई नंबर जारी नहीं किया जाएगा। विवादित नाम व सीरिज वाले ये नंबर शेख सराय आरटीओ कार्यालय से जारी किया गया था। विवाद व आपत्ति आने के अब इसे बंद कर दिया गया है।

Leave a Reply