October 4, 2022

उत्तरप्रदेश में सामने आया पुनर्जन्म का हैरतंगेज मामला

Surprising case of reincarnation surfaced in Uttar Pradesh

टि्वंकल वाधवानी की रिपोर्ट

पुनर्जन्म के किस्से अक्सर कहानियों और फिल्मों में देखने को मिलते हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में पुनर्जन्म का हैरान करने वाला एक मामला असल में सामने आया है।

आठ साल पहले हुई थी मौत

दरअसल मैनपुरी जिले के नगला सलेही के निवासी प्रमोद कुमार श्रीवास्तव अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहते हैं। उनका एक बेटा भी था, जिसकी आठ साल पहले नहर में डूबने से मौत हो गई थी। रोहित की मौत के आठ साल बाद पास के ही एक गांव के रहने वाले रामनरेश शंखवार के बेटे चंद्रवीर का कहना है कि वह रोहित ही है, जिसका पुनर्जन्म हुआ है।

पुनर्जन्म की बाते सुनकर लोग हुए हैरान

19 अगस्त को चंद्रवीर प्रमोद के घर आया और अपने परिवार वालों को देखते ही पहचान लिया। फिर उसने पुनर्जन्म की बातें बतायी। उसकी बाते सुन कर गांव के लोग एकत्रित हो गए और उससे जुड़ी रहस्यमयी बाते पूछने लगे।

इसी दौरान पूर्व माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक सुभाषचंद्र यादव, प्रमोद के घर के पास उमड़ी भीड़ को देखकर रुक गए, चंद्रवीर ने तुरंत ही उनका पैर छूकर कहा ‘ये तो सुभाष मास्टर साहब हैं’ यह सुनकर सभी दंग रह गये। इसके बाद चंद्रवीर को गांव वाले स्कूल ले गए, जहां वह पहले पढ़ता था और उससे पुछा कि वह कौन सी कक्षा में पढ़ता था, तो उसने तुरंत ही बता दिया। उसकी बातों से सभी चौंक गए।

बच्चे की जिद से बेबस होकर मिलवाने आए उसके पिता

चंद्रवीर के पिता रामनरेश ने बताया कि उसका बेटा चंद्रवीर बचपन से ही पुनर्जन्म की बातें करता था और अक्सर नगला सलेही जाने की जिद करता था और वे उसकी जिद से बेबस होकर उसे प्रमोद के घर ले आए।

Leave a Reply