August 17, 2022

जमशेदजी टाटा के अपमान का बदला है ‘ताज’,100 साल से अधिक पुरानी है होटल्स की विरासत

टाटा समूह उद्योग जगत का जनक कहा जाता है। लेकिन अब इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड (IHCL) का ब्रांड बन कर उभरा है ‘ताज’। जी हां, इसे दुनिया का सबसे मजबूत होटल्स ब्रांड चुना गया है। लेकिन इसके पीछे की कहानी आपको जानकर पड़ा गर्व महसूस होगा। टाटा ग्रुप के संस्थापक जमशेदजी टाटा ने इस होटल को खोलकर अपने साथ हुए अपमान का बदला अंग्रेजों से लिया था।

दुनिया का सबसे स्ट्रांग होटल ब्रांड है ताज
सबसे गौरवान्वित करने वाली बात तो यह है कि जिन अंग्रेजो को जवाब देने के लिए ताज की नींव रखी गई थी। उन्होंने हाल ही में इसे दुनिया का सबसे स्ट्रांग होटल ब्रांड बताया है। ब्रिटेन की ब्रांड वैल्यूएशन कंसल्टेंसी’brand finance’ ने सलाना होटल्स 50 2021 की रिपोर्ट जारी की है। जिसमें टाटा ग्रुप के ब्रांड को दुनिया का सबसे स्ट्रांग होटल ब्रांड घोषित किया गया है।

इस होटल को लेकर ब्रांड फाइनेंस के सीईओ डेविड हेग ने कहा कि ताज की विरासत 100 साल से भी अधिक पुराने हैं। अभी महामारी के दौर में भी यह भारतीय अतिथ्य की तरह खड़ा है। जमशेदजी टाटा ने अपने इस आधुनिक भारत के लिए कई सारे सपने देखे थे। जिनमें से उनके जीवनकाल में इकलौता सपना ताज होटल ही सही मायनों में पूरा हो सका। देश में सबसे पहला ताज होटल मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया के सामने साल 1903 में खुला था।

यह थी उनकी कहानी
दरअसल टाटा समूह की वेबसाइट के अनुसार,जमशेदजी टाटा को उनके एक विदेशी दोस्त ने मिलने के लिए मुंबई के एक बड़े प्रसिद्ध होटल में बुलाया था। लेकिन जमशेदजी टाटा अपने मित्र के साथ जब वहां पहुंचे तो होटल के मैनेजर अंदर जाने से मना कर दिया,यह कहकर कि ‘हम भारतीयों को अंदर जाने की परमिशन नहीं देते।’ तब के समय में कितने ही ब्रिटिश होटल थे जो ऐसे नस्लभेद किया करते थे। यही घटना जमशेदजी टाटा को कांटे की तरह चुभ गई।


बता दे ताज को महान बनाने वाली भी ऐसी कई बातें हैं जैसे कि ताज की विरासत, इसका मजबूती से खड़े रहना। साल 2008 में 26/11 हमले के दौरान भी यह होटल उसका गवाह बना था। हालांकि फिर उतनी ही मजबूती से ताज ने अपने आप को खड़ा किया। ताज की खास बातों में से एक यह भी है कि यहां केवल अतिथियों का ही ख्याल नहीं,बल्कि यहां के हर एक कर्मियों का भी पूरा ख्याल रखा जाता है।


ताज होटल को मिले इस सम्मान ICHL के MD व CEO पुनीत चटवाल ने बताया कि ग्लोबल मंच पर भारतीय हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लिए यह काफी गर्व करने वाली बात है। यह सब कुछ हमारे अतिथियों द्वारा हम पर जताए गए भरोसे की मिसाल है।

Leave a Reply