October 4, 2022

तालिबानी लड़ाके भी हैं क्रिकेट के दीवाने, क्या होगा अफगानी क्रिकेट का भविष्य

Taliban fighters are also crazy about cricket, what will be the future of Afghan cricket

क्षितिज यादव की रिपोर्ट

काबुल। विश्व क्रिकेट में अपनी एक बड़ी पहचान बिखेर चुके अफगानी क्रिकेट खिलाड़ी जिनमें प्रमुख रूप से राशिद खान, असगर अफगान, करीम सादिक, मोहम्मद नबी, मुजीबउर रहमान जैसे बड़े नाम शामिल हैं। जब से अफगानिस्तान पर अधिकार कर तालिबान एक वास्तविकता बन चुका है तब से ना सिर्फ अफगानिस्तान के क्रिकेट प्रेमी बल्कि दुनिया भर के क्रिकेट प्रेमी अफगानी क्रिकेट के भविष्य को लेकर चिंतित हैं। आपको बता दें इसी वर्ष अक्टूबर महीने में टी-20 वर्ल्ड कप शुरू होना है।

जिसका शेड्यूल तय किया जा चुका है। इस टूर्नामेंट में भारत पाकिस्तान एवं न्यूजीलैंड के साथ अफगानिस्तान टीम को भी ग्रुप बी में जगह दी गई है। पिछले डेढ़ दशकों में अफगानिस्तान की टीम ने अपने आप को सबसे ज्यादा निखारा है। आज अफगानिस्तान की टीम भारत समेत विश्व की बड़ी- बड़ी टीमों को हराने एवं टक्कर देने का माद्दा रखती है। अफगानी टीम में राशिद खान एक विश्वस्तरीय गेंदबाज है जो किसी भी मैच में तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं।

काबुल में होगी ट्रेनिंग

अफगानिस्तानी टीम के मीडिया मैनेजर हिकमत हसन ने इस बारे में बात करते हुए कहा कि जल्द ही टीम काबुल में लौटेगी और वही उसकी ट्रेनिंग होगी। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान टीम का टी -20 वर्ल्ड कप में खेलने को लेकर कोई शंका नहीं है। साथ ही उन्होंने बताया कि हम वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के साथ सीरीज खेलने के लिए स्थान की तलाश कर रहे हैं। कुछ खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग के दूसरे चरण में भी खेलेंगे।

तालिबानियों को पसंद है क्रिकेट

फिलहाल अब तक जो ट्रेंड देखा गया है उसमें यह पाया गया है कि तालिबानियों को क्रिकेट में अच्छी खासी दिलचस्पी है। वह अन्य खेलों के मुकाबले क्रिकेट को इसलिए भी पसंद करते हैं क्योंकि क्रिकेट में खिलाड़ी पूरे कपड़े पहनते हैं। अफगानिस्तान के पूर्व ओपनर बल्लेबाज करीम सादिक एक बार तालिबानियों से मिले थे जिसके आधार पर उन्होंने बताया कि तालिबानियों में क्रिकेट को लेकर काफी जुनून है और वह क्रिकेट देखते हैं तथा लाइव क्रिकेट स्कोर भी चेक करते रहते हैं।

तालिबान के एक कमांडर मुल्ला बदरुद्दीन ने एक बातचीत में बताया था के जब भी अफगानी टीम क्रिकेट खेलती है तो वहां रेडियो पर कमेंट्री सुनते हैं और पूरा लुफ्त उठाते हैं। वैसे तो तालिबानी लड़ाके सभी अफगानिस्तानी क्रिकेटरों से प्यार करते हैं परंतु उनमें राशिद खान को लेकर अलग ही जुनून है। फिलहाल क्रिकेट को लेकर तालिबानी किस तरह का व्यवहार करते हैं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

Leave a Reply