October 4, 2022

तालिबानियों ने की अमन-चैन की बात, महिलाओं की सुरक्षा एवं व्यापार के लिए भी दिए सकारात्मक संकेत

Taliban spoke of peace, also gave positive signs for women's safety and business

प्रखर दुबे की रिपोर्ट

अफ़ग़ानिस्तान : अफ़ग़ानिस्तान पर क़ब्ज़े के बाद अपने पहले प्रेस कांफ्रेंस में तालिबानी प्रवक्ता अमन-चैन की बात करते दिखे।अपनी हिंसक प्रवित्ति के विपरीत बातें करते हुए ,जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि वह उनसे लड़ने वाले सभी लोगों को माफ़ करेंगे और उनका बदलाव भी नहीं किया जायेगा और विकास के पथ पर देश को ले जाना चाहेंगे।अपनी ही बातों को आगे नाढते हुए उन्होंने कहा 20 साल के बाद मिली आज़ादी से हम बेहद खुश हैं और हम अफ़ग़ानिस्तान की ज़मीन से किसी भी देश को किसी प्रकार का खतरा नहीं होने देंगे ना ही किसी प्रकार से आतंकवाद को बढ़ावा देंगे ।

महिलाओं को रोज़गार एवं शिक्षा की होगी स्वतंत्रता

देश की महिलाओं की सुरक्षा पर बात करते हुए कहा गया कि उनको भी रोज़गार का अवसर मिलेगा और उन्हें शिक्षा की भी पूरी छूट होगी।हेल्थ सेक्टर से लेकर स्कूल ,सभी रोज़गारों को के लिए होगी आज़ादी। शरिया कानून को मानना ही होगा ,और उसी के तहत मिलेगी स्वतंत्रता।

मीडिया को भी मिलेगी स्वतंत्रता पर कार्यशैली अफ़ग़ानी मूलों के मुताबिक हो

मीडिया स्वतंत्रता पर बात करते हुए जबीउल्लाह ने कहा कि मीडिया को भी अपने कार्यों के लिए आज़ादी होगी लेकिन किसी भी प्रकार से अफ़ग़ानी मूलों या भवनाओं को ठेस न पहुंचे ।बरहाल मेडिया के क्षेत्र में महिलाओं के कार्यों को लेकर चुप्पी साध ली गयी ।

अर्तव्यवस्था में सुधार एवं रोज़गार को भी देंगे बढ़ावा ,विदेशी निवेश भी होंगे सुरक्षित

तालिबानी प्रवक्ता ने अर्थव्यवस्थाव में सुधार और रोजगार में बढ़ावे की भी बात कही और विदेशी निवेशों को भी सुरक्षा प्रदान करने की बात कही।असरफ गनी के नेतृत्व में किसी प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था नहीं थी उसमें सुधार करने का भी दिया आश्वासन। विदेशी निर्वेश भी होंगे सुरक्षित और किसी भी प्रकार का किसी भी फैक्ट्री या मल्टीप्लेक्स का ध्वस्तीकरण नहीं किया जायेगा ।युवाओं से लेकर महिलाओं की सुरक्षा तक हर एक मुद्दे पर होगी नज़र।

विदेशी दूतावास और विदेशी पर्यटन को भी सकुशल चलाया जायेगा

विदेशी दूतावास को किसी प्रकार की हानि नहीं पहुंचाई जायेगी और किसी का भी अपहरण नहीं किया जायेगा।विदेशी दूतावासों को संभावित सुरक्षा दी जायेगी और उनके कार्यों में भी हस्तक्षेप नहीं किया जएगा ।

इस बदलाव से पूरे विश्व में मची खलबली ,तालिबानियों पर संदेह है बरक़रार

अपने हिंसक रवैये से हटकर जब अमन चैन की बात करते दिखे तालिबानी प्रवक्ता तो पूरे अमेरिका से लेकर भारत तक सारे देशों में हलचल की स्तिथि दिखी । हालांकि इस रवैये से भी तालिबान के प्रति विश्व में जो अवधारणा बनी वो बदलने से रही मगर अफगानी नागरिकों को अब कितनी आज़ादी और सुविधा मिलती है ये देखने वाली बात होगी ।

Leave a Reply