October 4, 2022

तालिबानी चंद घंटों में अपनी जुबान से मुकर गए ,महिला एंकर को स्टूडियो में जाने से रोका

Talibani retracted their words within a few hours, prevented female anchors from entering the studio

प्रखर दुबे की रिपोर्ट

वो कहते हैं ना कि हाथी के दांत खाने के और दिखाने के कुछ और ,वैसा ही कुछ तालिबान में होता दिख रहा है। कुछ घंटे पहले ही किए अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में तालिबानी प्रवक्ता ने महिलाओं की आजादी एवं स्वतंत्रता पे दिए अपने बयान में यह साफ तौर पर कहा था कि महिलाओं को काम करने एवं शिक्षा की पूर्ण स्वतंत्रता दी जायेगी ।

अपने दिए हुए बयान से चंद घंटों में ही मुकर गया तालिबान ।कट्टर विद्रोही संगठन ने एक महिला न्यूज एंकर को स्टूडियो में जाने से रोककर एक बार फिर साबित कर दिया है कि उसकी सोच में कोई बदलाव नहीं आया है और ना आ सकता है। अफगानिस्तान में एक बार फिर महिलाओं को पर्दे में ही रहना होगा।

स्टेट न्यूज चैनल की एंकर शबनम खान दावरान ने दावा किया है कि तालिबानियों ने उन्हें अपने दफ्तर में प्रवेश करने से रोक दिया, जबकि हाल ही में तालिबान ने वादा किया था कि महिलाओं को काम करने की आजादी दी जाएगी।

दावरान ने दावा किया कि तालिबानियों ने उन्हें स्टूडियो में घुसने से रोकते हुए कहा कि वे बाद में इस पर फैसला लेंगे। 

महिलाओं के मीडिया क्षेत्र मे काम को लेकर साधी चुप्पी

मीडिया से मुखातिब होते वक़्त अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में तालिबानी
प्रवक्ता ने मीडिया क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका को लेकर उठे सवालों पर चुप्पी साध ली थी

।जिस से ये उस प्रेस कांफ्रेंस में ही स्पष्ट हो गया था कि मीडिया क्षेत्र में महिलाओं को काम शायद ही करने दें तालिबानी।बरहाल जिस तरीके से अपने वादों से मुकर रहा है तालिबान ऐसे में अफ़ग़ानियों का भविष्य खतरे में ही दिख रहा है ।

Leave a Reply