June 14, 2021

युवाओं के बीच बढ़ा माइक्रो वेडिंग का ट्रेंड, इस ट्रेंड से कपल्स को होते हैं कई तरह के फायदे, आईये जाने

इंडियन वेडिंग हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपने रीती-रिवाजों की वजह से बहुत ही फेमस है । बाहर के लोग इंडियन वेडिंग को ग्रैंड मानते हैं वे लोग यहाँ के खान पान से काफी प्रभावित हैं ।हमारे देश मे लोग शादी की तैयारी ऐसे करते हैं जैसे किसी उत्सव की महीनों पहले से तैयारी शुरू कर दी जाती है । लेकिन बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से शादी का पूरा ट्रेंड ही बदल गया । बता दें कि आज कल सभी कपल्स के बीच माइक्रो वेडिंग ट्रेंड काफी फेमस हो रही है । कोई भी कपल अपनी शादी भीड़ भाड़ की जगह कर ही नहीं रहा है ।

इंडिया मे माइक्रो वेडिंग ट्रेंड
माइक्रो वेडिंग यानी कि शादियों मे दूल्हे और दुल्हन के परिवार वाले और सिर्फ कुछ करीबी रिश्तेदार शामिल होते हैं । इस शादी में बहुत कम लोग होते है और शादी में शामिल होने वाले लोगो की संख्या अधिकतम 50-100 और या फिर कम से कम 20-25 हो सकती है। लेकिन फिर भी इन कम लोगो के बीच भी यह शादी काफी धूम धाम से की जाती है ।

माइक्रो वेडिंग के फायदे
टूटा पुराना ट्रेंड

कोरोना काल से पहले भारत मे काफी ग्रैंड शादियां की जाती थीं और उसके लिए शादियों में बहुत खर्चा भी होता था। लेकिन अब भारत में माइक्रो वेडिंग के ट्रेंड में लोगो के खर्चे कम हो गए और कम से कम लोगो में ही शादी हो जाती है ।

रूठना-मनाना भी हुआ खत्म
ग्रैंड शादियों मे ज्यादा से ज्यादा गेस्ट को इनविटेशन दिया जाता था । और शादी मे काफी भीड़ भी हो जाती थीं ऐसे मे किसी गेस्ट की खातिरदारी मे अगर कोई कमी हो जाती है तो वो गुस्सा हो शादी छोड़कर चला जाता था । लेकिन अब ना ज्यादा गेस्ट होते हैं और थोड़े ही लोगो में शादी कर दी जाती है। इसी वजह से इस लोगों को रूठने-मनाने का चलन भी कम हो गया है।

बिना कर्ज की शादी
पहले शादी को दिखावे के चक्कर मे ज्यादा ग्रैंड तरीके से करते थे और उससे उनके ऊपर काफी ज्यादा कर्ज हो जाता था । लेकिन अब लोग माइक्रो वेडिंग ले ट्रेंड में बिल्कुल कम खर्च करते हुऐ ही शादी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Copyright © All rights reserved. The Times Of Hind | Newsphere by AF themes.