नई दिल्ली: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार देर रात अपने पद से इस्तीका दे दिया। उन्होंने राज्यपाल बेबी रानी मौर्या को त्याग-पत्र सौंपा। भाजपा विधायक दल की बैठक शनिवार को होगी। भाजपा की ओर से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर बतौर पर्यवेक्षक देहरादून जाएंगे। इससे पहले उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जे. पी. नड्डा को सौंपे पत्र में पद छोड़ने की इच्छा जता राज्यपाल से मुलाकात का समय मांगा था।

रावत ने 4 माह सीएम पद संभाला था। वे अभी सांसद हैं। संविधान के मुताबिक सीएम बने नेता का 6 माह में विधानसभा के लिए निर्वाचित होना जरूरी है। उत्तराखंड की दो सीटों गंगोत्री व हल्द्वानी पर उपचुनाव होने हैं, लेकिन कोरोना के कारण इन पर चुनाव आयोग की रोक है।

पर्यवेक्षक के तौर पर देहरादून के लिए रवाना हुए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

4 नामों की चर्चा

उत्तराखंड में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले प्रदेशवासियों को फिर नया मुख्यमंत्री मिल सकता है। भाजपा नेतृत्व मौजूदा विधायकों में से ही किसी को मुख्यमंत्री बना सकता है। राज्य के 4 मंत्रियों धन सिंह रावत, बंशीधर भगत, हरक सिंह रावत और सतपाल महाराज का नाम कुर्सी की दौड़ में आगे चल रहा है।

Leave a Reply