October 7, 2022

पुतिन के आगे महिला ने उतार दिए कपड़े, टॉपलेस होकर किया प्रदर्शन

नई दिल्लीः रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का दुनियाभर में कई जगह विरोध हो रहा है. अलग-अलग तरीकों से पुतिन के तौर तरीकों का विरोध हो रहा है. ऐसा नहीं है कि पुतिन अभी ही आलोचकों के निशाने पर हैं. वह पहले भी दुनिया के अलग-अलग हिस्से में विरोध झेल चुके हैं और ये तरीके भी अजब-गजब है.

जर्मनी में पुतिन का हुआ था विरोध
ऐसा ही एक वाकया साल 2013 का है. 8 अप्रैल को जर्मनी के हनोवर शहर में इंडस्ट्रियल एग्जीबिशन ‘हनोवर मेसे’ की ओपनिंग सेरेमनी चल रही थी. इसमें व्लादिमीर पुतिन पहुंचे थे. उनके साथ तत्कालीन जर्मन चांसलर एंजेला मार्कल भी थी. इस एग्जीबिशन में 100 से ज्यादा रूसी कंपनियों ने भाग लिया था. 

छाती पर लिखा- युद्ध रोको, कौन हैं पुतिन के विरोध में टॉपलेस हुईं महिलाएं? -  Topless protesters march Russian embassy Ukraine invasion tst - AajTak

‘पुतिन ने हमला करार दिया था’
तभी एक लड़की व्लादिमीर पुतिन के सामने आई. ओलेक्जैंड्रा शेवचेन्को नामक यह लड़की टॉपलेस होकर पुतिन के सामने आई और डिक्टेटर कहने लगी. इस दौरान मौजूद एंजेला मार्कल असहज होकर किनारे होने की कोशिश करती दिखी. वहीं, पुतिन ने इसे हमला करार दिया था.

यूक्रेनी संगठन से जुड़ी लड़की ने किया था विरोध
यह लड़की ओलेक्जैंड्रा शेवचेन्को यूक्रेन के संगठन Femen से जुड़ी थी. यह ग्रुप महिलाओं के अधिकारों पर अलग अंदाज में प्रदर्शन करने के लिए जाना जाता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस महिला ने घटना को लेकर कहा था, ‘मैं फेंस के ऊपर से कूदी और कपड़े उतारते हुए पुतिन की तरफ दौड़ी. और चिल्लाई- डिक्टेटर’

पिछले दिनों टॉपलेस होकर किया था प्रदर्शन
बीते 6 मार्च को इस संगठन की 50 लड़कियों ने एफिल टावर पर टॉपलेस होकर प्रदर्शन किया था. ये ग्रुप अपनी छाती पर ‘Peace For Ukraine’ ‘Stop Putin’s War’ लिखवाकर प्रदर्शन कर रही हैं. स्पेन में भी किया गया प्रदर्शन इस संगठन की लड़कियों ने 3 मार्च को 2022 स्पेन के मैड्रिड शहर में भी प्रदर्शन किया था, वे रूसी दूतावास के बाहर पहुंची थीं. बालों में फूल लगाकर टॉपलेस होकर यूक्रेन में शांति की मांग कर रही थीं.

Input: Zee Media

Leave a Reply