April 18, 2024

Phone Hacking: Social Media पर फैला Spyware का नया जाल, भूल कर भी ना क्लिक करें ऐसे लिंक्स, मोबाइल हो जायेगा हैक

Phone Hacking, spyware iPhone, Android, Windows

Phone Hacking: आजकल सोशल मीडिया पर हैकर्स और साइबर फ्रॉड्स लोगों को फंसाने के लिए कई तरीकों के जाल बिछाते हैं. हालांकि, पिछले कुछ वक्त में लोग अनजान लिंक्स को लेकर सचेत हो गए हैं. खासकर मैसेज और ईमेल्स में आने वाले लिंक्स को लेकर. अब हैकर्स ने इन लिंक तक यूजर्स को खींचने के लिए नया पैंतरा अपनाया है. सोशल मीडिया ऐप्प्स फेसबुक और इंस्टाग्राम चलाने वाली कंपनी Meta Platforms ने 8 कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई की है, जो कि इटली, स्पेन और यूएई में स्थित हैं. ये कंपनियां गुप्त जासूसी करने का काम करती थीं. टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, ये जानकारी Meta की 2023 की चौथी तिमाही की धोखाधड़ी रिपोर्ट में दी गई है.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हो रहा खेल (Phone Hacking)

जानकारी के लिए आपको बता दे की, Amnesty International सिक्योरिटी लैब ने अपनी रिपोर्ट में हैकर्स की नई चाल के बारे में बताया है. रिपोर्ट की मानें, तो X और Meta के दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर हैकर्स कमेंट में इन संदिग्ध लिंक्स को एम्बेड कर रहे हैं. ये लिंक्स इतने खतरनाक हैं कि एक क्लिक से किसी यूजर के डिवाइस का फुल एक्सेस हैकर्स को मिल  सकता हैं।

यह भी पढ़े : UPSSSC Vacancy 2024 : सरकारी नौकरी पाने का है बेहतरीन मौका, तुरंत करें अप्लाई नहीं तो हाथ से निकल जाएगा मौका

कौन सी कंपनी है

  • इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम को सुरक्षित रखें (protect electronic systems)
  • नेग ग्रुप (Neg Group)
  • Cy4Gate/ELT समूह (Cy4Gate/ELT Group)
  • आरसीएस लैब्स (RCS Labs)

  • आईपीएस इंटेलिजेंस (IPS Intelligence)
  • वैरिस्टन आईटी (Variston IT)
  • ट्रूएल आईटी (True IT)

क्या टेक्नीक अपना रहे हैकर्स? (Phone Hacking)

आपको बता दे की साइबर सुरक्षा के मामले में, अभी तक यह साफ नहीं है कि कंपनियों ने लोगों की जानकारी चुराने के लिए कौन सी तकनीक इस्तेमाल की, लेकिन एक स्वीडिश टेलीकॉम सुरक्षा कंपनी को शक है कि उन्होंने “MM1_notification.REQ” नाम के खास तरह के मैसेज का इस्तेमाल किया होगा. यह एक ऐसा खास टेक्स्ट मैसेज है, जिसे “बाइनरी एसएमएस” भी कहते हैं.

सोशल मीडिया यूजर्स पर टारगेट

कुछ फ्रॉड कंपनियों ने फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर (X), यूट्यूब, स्काइप, गिटहब, रेडिट, गूगल, लिंक्डइन, क्वोरा, टम्बलर, वीके, फ्लिकर, टिकटॉक, स्नैपचैट, गेटर, वाइबर, ट्विच और टेलीग्राम (Phone Hacking) सहित कई प्लेटफॉर्मों पर लोगों की जानकारी चुराने, उन्हें धोखा देने और उनसे पैसे हड़पने की कोशिश की थी.

फर्जी अकाउंट्स, जो RCS Labs से जुड़े थे (जो कि Cy4Gate की कंपनी है), उसने कथित तौर पर लोगों को धोखा देकर उनका फोन नंबर, ईमेल पता हासिल किया और उन्हें फर्जी लिंक पर क्लिक कराया, ताकि उनकी जानकारी चुराई जा सके. इटली की एक कंपनी Variston IT, जो जासूसी के लिए सॉफ्टवेयर बनाती है, उसके कुछ फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट्स का इस्तेमाल किया गया था. अब वो अकाउंट्स बंद कर दिए गए हैं. उन अकाउंट्स का इस्तेमाल नुकसानदायक लिंक शेयर करने और उन लिंक्स को और खतरनाक बनाने के लिए किया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबित, यह कंपनी अब बंद हो रही है.

Meta कंपनी ने Negg Group के अकाउंट्स को पकड़ लिया, जो अपने जासूसी सॉफ्टवेयर को फैलाने के लिए टेस्टिंग कर रहे थे. साथ ही, Mollitiam Industries नाम की एक स्पेनिश कंपनी (Phone Hacking) के अकाउंट्स भी पकड़े गए, जो लोगों की जानकारी इकट्ठा करने वाला सॉफ्टवेयर बनाती है और विंडोज, मैक और एंड्रॉयड डिवाइसों के लिए जासूसी सॉफ्टवेयर बेचती है.

1 thought on “Phone Hacking: Social Media पर फैला Spyware का नया जाल, भूल कर भी ना क्लिक करें ऐसे लिंक्स, मोबाइल हो जायेगा हैक

Leave a Reply