January 27, 2023

Wrong UPI Transaction : अगर गलत अकाउंट में भेज दिया है UPI Payment, तो ऐसे पा सकते हैं पैसे Return, जानें तरीका

Wrong UPI Transaction

Wrong UPI Transaction : यूपीआई पेमेंट हमारे देश में बेहद कॉमन हो गया है। गांव से लेकर बड़े शहरों तक के हर गली और नुक्कड़ पर UPI प्लेटफॉर्म जैसे Google Pay, PhonePe और Paytm जैसे ऐप्स से लेनदेन किया जा रहा है। UPI लेनदेन मोबाइल नंबर से करना आसान होता है।

लेकिन कई मोबाइल नंबर का एक अंक भी गलत होने पर पैसे गलत अकाउंट में पैसे ट्रांसफर हो जाते हैं। अगर आपके साथ ही ऐसी घटना हो गई है, तो घबराने की जरूरत नहीं है। आप गलती से ट्रांसफर (Wrong UPI Transaction) हुए पैसों को वापस पा सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से…

गलत यूपीआई पेमेंट (Wrong UPI Transaction)

अगर UPI से गलत खता में चला गया हो, तो उसके लिए Google Pay, PhonePe और Paytm जैसे थर्ड पार्टी ऐप्स की जिम्मेवारी नहीं होते हैं। इसके लिए आपको सीधे अपने बैंक ब्रांच में संपर्क करना होता है, जिस बैंक अकाउंट से आपका यूपीआई पेमेंट लिंक होता है।

ऐसे में अगर गलत अकाउंट में पैसे ट्रांसफर हो गए हैं, तो आपको बैंक के कस्टमर केयर अधिकारी से बात करके जानकारी देनी होगी। वैसे ज्यादातर मामलों में कस्टमर केयर (Wrong UPI Transaction) बैंक को सीधे मेल करने की जानकारी देते हैं।

बैंक में जाकर करना होगा शिकायत

ऐसे मामलो में बैंक को मेल करने पर ज्यादातर समाधान हो जाता है। लेकिन अगर मेल करने से मामले का निपटान नहीं हो पता है, तो आपको संबंधित बैंक ब्रांच में जाकर शिकायत करना होगा। हालांकि बैक ब्रांच विजिट करने से पहले सारे डॉक्यूमेंट (Wrong UPI Transaction) जैसे मेल प्रिंटआउट को साथ ले जाना होगा। इसके बाद बैंक मैनेजर रिप्लाई करके बैंक में पैसे रिफंड कर सकते हैं।

Read Also : Savings Scheme : बच्चों के लिए पोस्ट ऑफिस की यह है शानदार स्कीम, जल्द जानें सबकुछ

यह है नियम! (Wrong UPI Transaction)

Reserve Bank of India के आदेश के मुताबिक गलत अकाउंट में पैसे ट्रांसफर होने की शिकायत मिलने के 7 से लेकर 15 दिन के भीतर बैंक को निपटारा करना जरूरी होता है। ऐसे में गलत अकाउंट में पैसे ट्रांसफर होने पर जल्द से जल्द संबंधित बैंक अकाउंट (Bank Account) और बैंक अधिकारी से बातचीत कर लेना चाहिए। अगर आपकी तरफ से गलत अकाउंट में भेजे गए पैसों को व्यक्ति खर्च भी कर देता है, तो नियम के मुताबिक बैंक को आपका पैसा रिफंड करना होगा। जबकि पैसे खर्च करने वाले व्यक्ति के बैलेंस को निगेटिव कर दिया जाएगा।

Leave a Reply