January 26, 2023

Truecaller App : अब कॉल करने वालों का असली नाम दिखेगा फोन स्क्रीन पर, TRAI ला रहा है नया सिस्टम

truecaller app

Truecaller App: टेलीकॉम रेग्‍युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) और दूरसंचार विभाग (DoT) जल्द ही एक ऐसी सुविधा शुरू करने वाली है, जिससे फर्जी कॉल जैसी समस्‍या दूर हो सकती है। केवाईसी बेस्‍ड प्रक्रिया ट्राई की ओर से शुरू होने जा रही है।

जब इसे लागू कर दिया जाएगा तो फोन करने वाले यूजर का केवाईसी वाला नाम आपके मोबाइल के डिस्‍प्‍ले पर दिखाई देगा। ट्राई के चेयरमैन पीडी वाघेला ने कहा कि इस पर विचार-विमर्श कुछ महीनों में शुरू होने की उम्मीद है।

Also Read : अब Jio में डाटा खत्म होने के बाद भी चला सकते है इन्टरनेट, जाने कैसे

TRAI क्या है

ट्राई (TRAI) टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया जिसे हिंदी में भारतीय विनियामक प्राधिकरण कहते हैं. 1997 में इसकी स्थापना हुई और इसका मुख्य काम टेलीकॉम से जुड़े सभी कामों पर नजर रखना और उसको रेगुलेट करना है.

आसान भाषा में ऐसे समझिए कि जिस भी कंपनी का आप सिम इस्तेमाल करते हैं उस कंपनी पर ट्राई नजर रखता है कि आपसे सर्विस के नाम पर ज्यादा पैसे तो नहीं लिए जा रहे. आपको अच्छी सर्विस मिल रही है या नहीं. इसके अलावा ट्राई के अंदर दूरसंचार से जुड़े सभी काम आते हैं.

क्‍या होगा फायदा ?


ट्राई की ओर से इस नियम को लागू कर देने के बाद से कोई भी यूजर अपनी पहचान छुपा नहीं सकेगा। फोन करने पर केवाईसी वाला नाम दिखने का मतलब यह हुआ कि नाम बिल्कुल सही होगा। इससे आप पहले ही फर्जी और स्‍पैम कॉल से सावधान हो सकेंगे। हालाकि इससे पहले भी फोन आने पर यूजर का नाम देखने की सुविधा TrueCaller के तहत है, लेकिन इसपर दिखने वाले नाम में फ्रॉड होने की संभावना है।

TRAI Launch Truecaller App की विशेषता

  • TRAI Launch Truecaller App  मुख्य तौर पर  भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण  द्धारा जारी किया जायेगा जिसमें आपको किसी भी  थर्ड पार्टी एप्प  को डाउनलोड करने की जरुरत  नहीं होगी
  • इस एप्प पर आप अन्य एप्पो की तुलना मे, फोन करने वाले व्यक्ति के E KYC Document Based Name and City / State  को देख पायेगे

Also Read : SBI New Feature: एसबीआई ने ग्राहकों को दिया शानदार तोहफा, अब घर बैठे मिलेगा 35 लाख रुपये तक का लोन

  • आपको बता दे कि, TRAI Launch Truecaller App की मदद से आप किसी भी फोन करने वाली की  पक्की व असली पहचान  कर पायेगे ताकि जिससे  साईबर क्राईम  जैसी वारदातो मे, भारी कमी आयेगी
  • अन्त में, आपको बता दें कि, इससे सड़क – छाप  मजनुओं से महिलाओं व युवतियो को मुक्ति मिलेगी क्योंकि उनके द्धारा बार – बार फोन किये जाने पर स एप्प की मदद से महिलाओ व युवतियो को उनकी असली पहचान प्राप्त हो जायेगी और वे उनकी शिकायत पुलिस थाने में कर सकेगी आदि।

इस प्रकार हम कह सकते है कि, इस एप्प की मदद से ना केवल महिलाओँ व युवतिाओं का  महिला सशक्तिकरण होगा  बल्कि साथ ही साथ  साईबर क्राईम  की वारदातो में, भी भारी कटौती देखने को मिलेगी।

Leave a Reply