July 14, 2024

Cabinet Decision on Sugarcane : लोकसभा चुनाव से पहले किसानो को राहत, सरकार ने इस फसल के रेट में 25 रुपये का इजाफा क‍िया

Union Cabinet approves hike in sugarcane FRP

Cabinet Decision on Sugarcane : केंद्र की मोदी सरकार की तरफ से लोकसभा चुनाव 2024 से पहले क‍िसानों को खुशखबरी दी गई है. सरकार ने बुधवार को 2024-25 सत्र के लिए गन्‍ने का एफआरपी 25 रुपये बढ़ाकर 340 रुपये प्रति क्‍व‍िंटल करने को मंजूरी दे दी. गन्‍ने का नया सत्र अक्टूबर से शुरू होता है. फेयर एंड र‍िम्‍यूनेरेट‍िव प्राइस (FRP) वह न्यूनतम कीमत है, जो मिलों को गन्‍ना उत्पादकों को चुकानी पड़ती है.

गन्‍ने की एफआरपी (FRP) बढ़ाने का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) की बैठक में लिया गया. 25 रुपये प्रति क्‍व‍िंटल की बढ़ोतरी मोदी सरकार द्वारा की तरफ से की गई सबसे ज्‍यादा बढ़ोतरी है.

यह भी पढ़े : इस दिन जारी हो सकती हैं पीएम क‍िसान की 16वीं क‍िस्‍त, करोड़ों क‍िसानों को म‍िलेगा पैसा

क्‍या होता है एफआरपी

हमारे देश में एफआरपी (उचित और लाभकारी मूल्य) वो न्यूनतम दर है ज‍िस पर चीनी मिलों को कानून के अनुसार किसानों को गन्‍ने के लिए न्‍यूनतम मूल्‍य देना होता है. एफआरपी (Cabinet Decision on Sugarcane) को केंद्र सरकार की तरफ से तय क‍िया जाता है.

एफआरपी तय करने में गन्‍ना उत्‍पादन का खर्च (मजदूरी, खाद, सिंचाई और मशीनों का खर्च), दूसरी फसलों से होने वाला मुनाफा, खेती की चीजों के दामों का उतार-चढ़ाव, ग्राहकों के लि‍ए चीनी की उपलब्धता, चीनी बनाने का खर्च और मुनाफे आद‍ि को ध्‍यान में रखा जाता है. अक्टूबर-सितंबर 2024-25 सीजन के ल‍िए एफआरपी 340 रुपये प्रति क्‍व‍िंटल है, यह पिछले साल से 8 परसेंट ज्यादा है.

गन्‍ना क‍िसानों को म‍िली बड़ी राहत (Cabinet Decision on Sugarcane)

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले सरकार की तरफ से उठाए गए इस कदम से क‍िसानों को राहत म‍िली है. गन्‍ने की खेती मुख्‍य रूप से महाराष्‍ट्र, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक में उगाया जाता है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने मीड‍िया से कहा, गन्‍ना क‍िसानों के फायदे को ध्‍यान में रखते हुए आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने चीनी सत्र 2024-25 के लिए गन्‍ने के उचित और लाभकारी मूल्य (FRP) को 10.25 प्रतिशत की मूल रिकवरी दर के लिए 340 रुपये प्रति क्‍व‍िंटल पर मंजूरी दे दी है.

गन्ने का Rate 210 से 340 रुपए प्रति क्विटंल पहुंचा

केंद्र सरकार ने हमेशा कृषि और किसानों के हित में काम किया है। पिछले दस साल के दौरान गन्ने का FRP यानी फेयर एंड रिम्यूनरेटिव प्राइस 210 रुपए प्रति क्विंटल से बढ़कर 340 रुपए प्रति क्विंटल पहुंच गया है। गन्ने का उचित एवं लाभकारी मूल्य 2014-15 में 210 रुपए प्रति क्विंटल था जो अब 2024-25 में 340 रुपए प्रति क्विंटल हो गया है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस अवसर पर कहा कि इससे गन्ना किसानों की आमदनी में इजाफा होगा। इस फैसले से किसानों की आय दोगुना करने की मोदी की गारंटी पर मुहर लग जाती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने जताई खुशी (Cabinet Decision on Sugarcane)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गन्ना कीमत में वृद्धि पर खुशी जताई है। उन्होंने X पर पोस्ट कर कहा, देशभर के अपने किसान भाई-बहनों के कल्याण से जुड़े हर संकल्प को पूरा करने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है। इसी कड़ी में गन्ना खरीद की कीमत में ऐतिहासिक बढ़ोतरी को मंजूरी दी गई है। इस कदम से हमारे करोड़ों गन्ना उत्पादक किसानों को लाभ होगा।

1 thought on “Cabinet Decision on Sugarcane : लोकसभा चुनाव से पहले किसानो को राहत, सरकार ने इस फसल के रेट में 25 रुपये का इजाफा क‍िया

Leave a Reply