October 5, 2022

देश के 90 लाख किसान को अब नहीं मिल पाएगा PM Kisan Yojana का लाभ, जानें ये बड़ी वजह

Pm Kisan Yojana : उत्तरप्रदेश के 90 लाख किसान, Pm Kisan Yojana अब नहीं पा सकेंगे। Central Government द्वारा Pm Kisan Yojana का लाभ पाने के लिए हर लाभार्थी किसान की Pm Kisan E Kyc करवाए जाने के आदेश दिए थे। इसकी समय सीमा 31 जुलाई तक तय की गई थी।

आदेश यह भी दिए गए थे कि 31 जुलाई तक Pm Kisan E Kyc नहीं करवा पाने वाले किसानों को Pm Kisan Yojana की September में मिलने वाली 12 th Installment का लाभ नहीं मिल सकेगा। कृषि निदेशालय से मिले आंकड़ों के अनुसार अभी तक कुल 2 करोड़ 60 लाख किसानों को Pm Kisan Yojana का लाभ मिल रहा था।

31 July तक महज एक करोड़ 70 लाख Farmers की ही Pm Kisan E Kyc पूरी हो सकी। इस तरह से करीब 90 लाख किसानों के नाम अब Pm Kisan Yojana की सूची से हटा दिए जाएंगे। फरवरी 2019 से शुरू हुई Pm Kisan Yojana के तहत छोटी जोत के किसानों को 6000 रुपये वार्षिक की दर से निधि का लाभ मिलना शुरू हुआ था। 4-4 माह के अंतराल पर तीन किस्तों में 2000-2000 हजार रुपये की राशि सीधे लाभार्थी किसानों के खाते में भेजी जाती है।

जनवरी से अप्रैल की 11th Installment की राशि प्रदेश के दो करोड़ 60 लाख किसानों के खातों में भेजी जा चुकी है। मगर अब सितम्बर में 12th Installment की राशि पाने वाले Farmers की तादाद घट जाएगी। Pm Kisan E Kyc के तहत लाभार्थी किसानों के Bank Account को उनके Aadhar Card और Pan Card से जोड़ा जा रहा था।

16 जुलाई को बंगुलुरू में राज्यों के कृषि मंत्रियों के सम्मेलन में प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने केन्द्रीय कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही से PM Kisan E Kyc की समय सीमा 31 July से बढ़ाकर 15 August तक किए जाने का अनुरोध किया था। मगर यह समय सीमा बढ़ नहीं सकी।

Pm Kisan E Kyc की प्रक्रिया शुरू होने के बाद तमाम ऐसे लाभार्थी Farmers जो आयकरदाता हैं या जिनका देहांत हो गया या फिर वह संवैधानिक पदों पर हैं के नाम सूची से कटना शुरू हुए। तमाम Farmers ने खुद ही अपने को Pm Kisan Yojana के लिए अपात्र घोषित करते हुए अब तक मिली सम्मान निधि की राशि सरेण्डर भी की।

Leave a Reply