June 14, 2021

मद्रास हाईकोर्ट में उठा सवाल क्या लिव इन में रही महिला का पुरुष के पेंशन पर है अधिकार?

कुंभकोणम के तमिलनाडु विद्युत उत्पादन और वितरण निगम में काम करने वाले एस कलियापेरुमल की शादी सुशीला नामक महिला से हुई और और वह उनकी वारिस बनी, कैंसर रोग से ग्रसित होने के कारण सुशीला ने अपनी बहन मलारकोडि को अपने पति से शादी करने की सहमति दे दी‌ थी, इसके बाद तीनों, दंपती के तीन बेटों और बेटियों के साथ एक ही घर मे रहने लगे।

पत्नी की मृत्यु हो जाने के बाद बच्चों की सहमति से कलियापेरुमल ने मलारकोडि को अपना वारिस बनाने के लिए 2015 में आवेदन किया लेकिन संसोधन होने से पहले ही कलियापेरुमल की मृत्यु हो गई।

विद्युत निगम द्वारा कोई कार्यवाही ना लिए जाने के कारण मलारकोडि ने हाईकोर्ट मे याचिका दाखिल की है। मद्रास हाई कोर्ट सिंगल बैंच जस्टिस एस वैद्यनाथन ने केस को वृहद पीठ भैजने को कहा है। जल्द ही चीफ जस्टिस द्वारा पीठ का गठन कर सुनवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Copyright © All rights reserved. The Times Of Hind | Newsphere by AF themes.