August 5, 2021

चाचा पशुपति ने चली चाणक्य नीति: अब चिराग को एलजेपी में वापिस आने का दिया ‘ऑफर’,

बिहार मे एलजेपी पार्टी में बड़ी फूट के बाद पार्टी के सांसद पशुपति कुमार पारस अपनी बात अब सबके सामने खुलाकर रखी है । बता दे की उन्होंने कहा हमने तो कभी पार्टी तोड़ी ही नहीं थीं हमेशा से बचाई ही है । यही नहीं बल्कि उन्होंने अपनी चाणक्य नीति चलाते हुऐ अपने भतीजे चिराग को खास ऑफर दिया है ।

उन्होंने कहा की अगर चिराग चाहे तो पार्टी मे रह सकते है । और साथ मे यह भी कहा की पिछले साल हमारे भैया रामविलास पासवान हमारे बीच नहीं रहे थे । लेकिन उनके समय पर करीब 20 साल तक उनके नेतृत्व में पार्टी बहुत ही अच्छी तरीके से चल रही थी। कही कोई कसर या किसी को कोई शिकायत नहीं थीं। हमें बहुत ही दुख है की मेरे बड़े भाई और छोटे भाई दोनों ही हमको छोड़कर चले गए। मैं अब अकेला महसूस कर रहा हूं।

पशुपति पारस ने कहा कुछ असामाजिक तत्वों ने आकर हमारी पार्टी में फुट डाली

जानकारी के मुताबिक बता दे की हाजीपुर से सांसद पशुपति पारस ने चिराग पासवान का नाम लिए बिना ही उन पर सीधा निशाना साधते हुए कहा कि कुछ असामाजिक तत्वों ने हमारी पार्टी मे आकर फुट डाली है । उन्होंने कहा की पार्टी की भागदौड़ जिसके हाथ मे थीं उन्होंने ने पार्टी के किसी भी कार्यकर्ताओ की भावनाओं को नहीं समझा और उन्हें अनदेखा कर गठबंधन को तोड़ दिया।

उन्होंने इल्जाम लगाते हुऐ कहा की गठबंधन भी तोड़ा तो बेहद बहुत ही अजीब तरीके से, किसी से दोस्ती करेंगे तो किसी से प्यार करेंगे वही दूसरी ही और किसी से नफरत भी करेंगे। यही सब की वजह से बिहार में एनडीए गठबंधन बहुत ज्यादा कमजोर हुआ और लोक जनशक्ति पार्टी बिल्कुल ही खत्म होने की कगार पर आ गयी है ।

Leave a Reply