October 4, 2022

अफगानिस्तान में कौन सी फसल होती है सबसे ज्यादा और भारत क्या क्या खरीदता है? जानें…

क्षितिज यादव की रिपोर्ट

क्षितिज यादव की रिपोर्ट

दिल्ली। अफगानिस्तान जब से अपने ही देश के आतंकी संगठन तालिबान का गुलाम बना है। तब से वैश्विक स्तर पर अन्य देशों के लिए भी कई प्रकार की समस्याएं लगातार उत्पन्न हो रही हैं। पिछले दो दशकों से जो भी देश अफगानिस्तान से व्यापार संबंधी रिश्ता रखे थे उनके लिए एक नई चुनौती उभर कर आई है। आइए जानते हैं कि भारत और अफगानिस्तान में अब तक किन-किन चीजों का आयात- निर्यात होता था। हालांकि अफगानिस्तान में कुल आयात सामान्य रूप से उसके निर्यात से कम है। फिर भी अफगानिस्तान कुछ चीजों का बड़ा निर्यातक है।

भारत करता है आयात

भारत सरकार लगभग पिछले दो दशकों से अफगानिस्तान से अनेक प्रकार की वस्तुओं का आयात करता आया है। भारत अब तक अफगानिस्तान से सूखे किशमिश, अखरोट, बादाम, अंजीर, पाइन नट, पिस्ता, सूखे खुबानी और खुबानी, चेरी, तरबूज और औषधीय जड़ी-बूटियों और ताजे फल शामिल है। तालिबान को लेकर अभी तक कोई भी स्थिति स्पष्ट नहीं दिख रही है। अफगानिस्तान में तालिबान के राज के बाद भारत द्विपक्षीय व्यापार का रिश्ता रखेगा या नहीं यह आगे देखने वाली बात है। फिलहाल इस मुद्दे को लेकर भारत सरकार को अलग तरीके से सोचने की जरूरत है।

भारत क्या करता था निर्यात

निर्यात करने की दृष्टि से देखा जाए तो भारत अब तक अफगानिस्तान को चाय, कॉफी, काली मिर्च, कपास, खिलौने, जूते और विभिन्न अन्य उपभोग्य वस्तुएं का निर्यात करता आया है।

अफीम का बड़ा उत्पादक है अफगानिस्तान

वैसे तो अफगानिस्तान में ⅛ भूमि ही कृषि करने योग्य है। परंतु अगर कुछ मीडिया रिपोर्टों की मानें तो ऐसा बताया जाता है कि अफगानिस्तान में आधे से अधिक भूभाग पर अफीम की खेती की जाती है। इस प्रकार अफगानिस्तान अफीम का एक बड़ा उत्पादक देश है।

अफगानिस्तान में ज्यादातर भूमि परती , पहाड़ जैसी संरचना वाला है। वह भूमि केवल चरागाह के कार्य में ही आता है। अफगानिस्तान में अवैध मादक पदार्थों का अधिक बाजार होने के कारण अफगानिस्तानी लोग गेहूं मक्का, चावल , चीनी जैसे उत्पादों को कम उत्पादित करके इन चीजों का पाकिस्तान से आयात करता है।

Leave a Reply